कुंभ मे दिखेगा हरकी पैड़ी का नया रूप

धर्मनगरी हरिद्वार में विश्व प्रसिद्ध हरकी पौड़ी को कुंभ के लिए और भी भव्य और सुंदर बनाने का कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है

 

हरिद्वार  | धर्मनगरी हरिद्वार में विश्व प्रसिद्ध हरकी पौड़ी को कुंभ के लिए और  भी भव्य और सुंदर बनाने का कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है जो कि अब अंतिम चरण की ओर है। 2021 में होने वाले कुंभ मे आने वाले श्रद्धालुओं को हरकी पौड़ी इस बार एक अलग ही रूप में देखने को मिलेगी। आपको बता दें कि इस समय हरकी पौड़ी को पौराणिक रूप के साथ-साथ भव्य और दिव्य रूप देने के लिए कई कार्य हरकी पौड़ी पर कराएं जा रहे हैं, जिससे हरकी पौड़ी की सुंदरता को और चार चांद लगाए जा सके।

युवा खिलाड़ी अभिमन्यु ईश्वरन का भारतीय क्रिकेट टीम में हुआ चयन

गंगा सभा के महामंत्री तन्मय वशिष्ठ ने बताया कि हरकी पैड़ी  से जुड़ी लोगों की आस्था को देखते हुए 2021 कुंभ के लिए हरकी पौड़ी को अपने पौराणिक रूप के साथ और भव्य और सुंदर बनाने का कार्य चल रहा है, जिसमें कई कार्य धरातल पर दिखने लगे हैं और जल्द ही कुंभ मेले से पहले यह सभी कार्य संपन्न हो जाएंगे। हरकी पौड़ी पर दो स्टेडियम लाइट लगाई गई हैं जिससे रात्रि के समय संपूर्ण हरकी पौड़ी पर दिन निकला दिखाई दिया करेगा। हरकी पौड़ी पर दो बड़ी स्क्रीन भी लगाई गई है जिन पर दिन में मां गंगा से जुड़ी कथाएं और गंगा आरती प्रकाशित की जाएंगी जिससे हरकी पैड़ी पर किसी भी स्थान से श्रद्धालु गंगा आरती का दर्शन कर सकेंगे। इसके साथ ही पूरे मेला क्षेत्र में स्पीकर्स के माध्यम से श्रद्धालुओं को गंगा आरती सुनाई जाएगी। हरकी पौड़ी को भगवा व पीला रंग के साथ सुंदर बनाने का प्रयास भी किया जा रहा है। साथ ही सभी पुलों को भी इन्हीं रंगों से रंगा जा रहा है इसके साथ ही लाइटों के माध्यम से हरकी पौड़ी को सजाया जाएगा जिससे हरकी पौड़ी दिन के साथ-साथ रात में भी जगमगाए।

हल्द्वानी एसपी क्राइम राजीव मोहन की दिल्ली में उपचार के दौरान मौत

मेलाधिकारी दीपक रावत का कहना है कि हरकी पौड़ी को कुंभ के लिए एक अलग ही रूप देने का प्रयास किया जा रहा है, सबसे पहले तो हरकी पौड़ी के पास कांगड़ा घाट का विस्तार किया गया है, साथ ही हरकी पौड़ी के फ्रंट पर होने वाला जूता स्टाल को पीछे की ओर किया गया है। हरकी पौड़ी पर लाइट व स्पीकर भी लगाए गए हैं, हरकी पौड़ी पर दो बड़ी स्क्रीन भी लगाई गई हैं जिससे आरती का दर्शन किसी भी स्थान से किया जा सके। गंगा सभा का ऑफिस भी नए तरह से बनाया जा रहा है। निश्चित तौर पर आने वाले समय में हरकी पौड़ी का एक अलग ही स्वरूप देखने को मिलेगा।

सभी संप्रदाय के लोगों को जोड़ना होगा राम मंदिर निर्माण से: मोहन भागवत

Leave a Reply