कुंभ मेला 27 फरवरी से शुरू, श्रद्धालुओं को कोरोना निगेटिव रिपोर्ट के बाद ही मिलेगा प्रवेश

उत्तराखंड के हरिद्वार में पवित्र कुंभ मेला 27 फरवरी 2021 से शुरू होने जा रहा है।

हरिद्वार । उत्तराखंड के हरिद्वार में पवित्र कुंभ मेला 27 फरवरी 2021 से शुरू होने जा रहा है। मेले के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) जारी किया है। एसओपी में लिखा गया है कि कुंभ मेला 27 फरवरी से शुरू होकर 30 अप्रैल 2021 तक चल सकता है। श्रद्धालुओं को कोरोना की निगेटिव आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट (72 घंटे से ज़्यादा पुरानी नहीं) लानी होगी, तभी मेले में प्रवेश मिलेगा। संभावना है कि मेले के दौरान रोजाना 10 लाख लोग आएंगे, जबकि पर्व स्नान या शाही स्नान के दौरान 50 लाख लोग आ सकते हैं। उत्तराखंड सरकार को यह सुनिश्चित करना होगा कि केवल वही स्वास्थ्य कर्मी और फ्रंट लाइन वर्कर कुंभ मेला में तैनात हों जिनको कोरोना वैक्सीन लग गई हो।

भारत में टीकाकरण ने पकड़ी गति, एक हफ्ते में 16 लाख लोगों को लगा टीका

उत्तराखंड सरकार को यह यात्रा बिल्कुल अमरनाथ यात्रा की तर्ज पर करवानी होगी। यानी सभी श्रद्धालुओं का रजिस्ट्रेशन होगा और अनिवार्य रूप से मेडिकल सर्टिफिकेट लाना होगा। यानी जो श्रद्धालु कुंभ मेले में आना चाहते हैं उनको उत्तराखंड सरकार के यहां रजिस्टर कराना होगा साथ ही अपने निकटतम कम्युनिटी हेल्थ सेंटर या जिला अस्पताल या मेडिकल कॉलेज से मेडिकल सर्टिफिकेट लेकर भी आना होगा। उत्तराखंड सरकार को इस बात का प्रचार सभी राज्यों में अच्छे से करना होगा।

गुलदार की खाल बेचकर कमाता था लाखों, एसओजी की टीम ने किया गिरफ्तार

जो श्रद्धालु मेडिकल सर्टिफिकेट लेकर नहीं आएगा उनको कुंभ मेला में घुसने की इजाजत नहीं होगी। 65 वर्ष की उम्र के ऊपर के लोग, गर्भवती महिलाएं, 10 साल से कम आयु के बच्चे और पुरानी गंभीर बीमारी से ग्रस्त लोगों को कुंभ मेले में आने से हतोत्साहित किया जाए। राज्य सरकार के ऐसे कर्मचारी जिनकी उम्र ज्यादा है, गर्भवती महिलाएं या पुरानी गंभीर बीमारी से ग्रस्त कर्मचारी, इन लोगों को किसी भी फ्रंटलाइन काम या फिर ऐसे काम में ना लगाया जाए जहां पर जनता से सीधा संबंध हो। कोविड अनुरूप व्यवहार का पालन कराना होगा। देह से दूरी, फावे मास्क ज़रूरी होगा। जो लोग इसका पालन नहीं करेंगे उन पर जुर्माना लगाना होगा। थूकने पर सख्त पाबंदी होगी।

मसूरी | पर्यटकों की उमड़ी भीड़, मसूरीवासियों के खिले चेहरे

Leave a Reply