मसूरी में शहीद मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल की मूर्ति होगी स्थापित

मसूरी छावनी परिषद में पुलवामा आतंकी मुठभेड़ में शहीद हुए मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल की मूर्ति स्थापित की जायेगी।

देहरादून / मसूरी | मसूरी छावनी परिषद की बोर्ड बैठक मे छावनी अध्यक्ष बिग्रेडियर सत्या नारायण सिंह ने छावनी परिषद के विकास कार्यों को लेकर कई प्रस्ताव को सर्वसम्मति से पास किया गया। बोर्ड बैठक में निर्णय लिया गया कि छावनी परिषद के प्रवेश द्वार भव्य स्वागत द्वार का निर्माण करवाया जायेगा वही भारतीय सेना के वीरों ने वीरता और साहस का परिचय देते हुए 1965 के भारत-पाक युद्ध में कई पाकिस्तानी पैटन टैंकों को ध्वस्त करने वाले परमवीर विजेता डाक्टर अब्दुल हमीद के लेख को प्रदर्शित किया जाएगा वहा एक टैंक भी रखा जाएगा। वही प्रवेष द्वारा पर पुलवामा में आतंकी मुठभेड़ में शहीद हुए मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल की मूर्ति स्थापित की जायेगी।जिससे कि उनकी शहादत को याद किया जा सके।

शिफन कोर्ट से बेघर हुए 84 गरीब परिवार सड़क पर

मसूरी छावनी परिषद क्षेत्र में लगने वाले जाम को लेकर छावनी परिषद के अध्यक्ष ने नाराजगी व्यक्त की उन्होंने कहा कि छावनी परिषद का विकास तभी संभव है जब यहां के जाम से लोगों को निजात मिल सके और इसको लेकर उन्होंने मुख्य अधिशासी अधिकारी को जाम के झाम से निजात दिलाने को लेकर एक्शन प्लान तैयार करने के निर्देश दिए।
छावनी परिषद की बैठक से पूर्व मशहूर बॉलीवुड फिल्म निर्माता निर्देशक विशाल भारद्वाज, किरण कपूर, दीपक मधोक और छावनी परिषद के मुख्य अधिशासी अधिकारी अभिषेक राठौर ने वर्चुअली बोर्ड बैठक में प्रतिभाग किया। जिसमें विषाल भारद्वाज में मसूरी छावनी क्षेत्र में छावनी ओर लंढोर बाजार के इतिहास को लेकर एक म्यूजियम व छोटा आडिटोरियम बनाने की मांग की गई जिसमें स्थानीय युवाओं और बच्चों फिल्मों में कैरियर बनाने की जानकारी दी जा सके। मसूरी लंढौर क्षेत्र में बुक क्लब का भी निर्माण किया करने की मांग की गई जिसमें मसूरी शहर में रहने वाले इतिहासकार लेखक की किताबों को प्रदर्शित किया जा सके जिससे कि आने वाली पीढ़ियों को इसका लाभ मिल सके। वही विशाल भारद्वाज ने इच्छा जताई कि लंढोर को पर्यटन की दृष्टि से इतना विकसित कर दिया जाए कि मसूरी की पहचान लंढौर और छावनी क्षेत्र बन सके।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें