शिफन कोर्ट से बेघर हुए 84 गरीब परिवार सड़क पर

मसूरी में देहरादून मसूरी पुरुकुल रोपवे एक बार फिर शिफन कोर्ट से बेघर हुए 84 परिवारों ने विरोध शुरू किया

 

मसूरी  | मसूरी में देहरादून मसूरी पुरुकुल रोपवे एक बार फिर शिफन कोर्ट से बेघर हुए 84 परिवारों ने विरोध करना शुरू कर दिया है सोमवार को पुरुकुल रोपवे प्रोजेक्ट के तहत मुख्य द्वार पर गेट लगाया जा रहा था जिसका शिफन कोर्ट के लोगों ने विरोध किया और गेट को लगने से रोक दिया शिफन कोर्ट के विरोध के बाद मसूरी पुलिस कोतवाल देवेंद्र असवाल के नेतृत्व में मौके पर पहुंची जहां पर शिफन कोर्ट से बेघर हुए लोगों और पुलिस के बीच तीखी नोकझोंक हो गई |

झबरेड़ा के विधायक देशराज कर्णवाल ऑडियो वायरल

शिफन कोर्ट से लोगों का यह कहना था कि सरकार द्वारा करोड़ों रुपए लगाकर पुरुकुल रोपवे में प्रोजेक्ट बनाया जा रहा है परंतु 84 परिवारों को बेघर करके सड़कों पर छोड़ दिया गया है, आज उनके बच्चे और महिलाएं परेशान है हवा घर पर रातें गुजार रही है पर ना तो कोई जनप्रतिनिधि और ना ही प्रशासनिक अधिकारी उनकी ओर ध्यान दे रहे हैं |

रुड़की मेयर पर विवाहिता से छेड़छाड़ का लगा आरोप

उन्होंने क्षेत्रीय विधायक गणेश जोशी और पालिका अध्यक्ष अनुज गुप्ता पर भी उनकी अनदेखी करने का आरोप लगाया उन्होंने कहा कि पिछले 5 महीनों से वह परेशान है घर से बेघर है परंतु सिर्फ आश्वासन के उनको कुछ भी नहीं मिल रहा है मसूरी में सर्दी का सितम है और ऐसे में वह सड़कों किनारे अपने छोटे बच्चों के साथ रात गुजारने को मजबूर है |

उन्होंने कहा कि देहरादून मसूरी पुरुकल रोपवे का कार्य शुरू होने देंगे जब तक उनको विस्थापित नहीं किया जाएगा और आंदोलन को उग्र किया जाएगा चाहे उसके लिए जेल भी जाना पड़े |

पौड़ी में एक बार फिर हुई दरिंदगी

Leave a Reply