निरंजनी अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर पद को लेकर विवाद

स्वामी प्रज्ञानानंद ने कहा निरंजनी अखाड़े के इस पद पर वे किसी भी विवादित संत को नही बैठने देंगे

हरिद्वार | सन्यासियों  के सबसे बड़े अखाड़ों में से एक निरंजनी अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर पद को लेकर भी विवाद हो गया है। हाल ही में निरंजनी अखाड़े ने अग्नि अखाड़े के महामंडलेश्वर कैलाशानन्द ब्रह्मचारी को निरंजनी अखाड़े में शमिल कर उन्हें अखाड़े का आचार्य महामंडलेश्वर बनाने की घोषणा की थी जिसके लिए आगामी 14 जनवरी को मकर संक्रांति के दिन उनका पट्टाभिषेक किया जाना है।हरिद्वार पहुंचे स्वामी प्रज्ञानानंद के अनुसार बीती 13 मार्च, 2019 को वाराणसी में उन्हें निरंजनी अखाड़े ने आचार्य महामंडलेश्वर बनाया था जिसके साक्षी कई दिग्गज संत बने थे नियमतः अखाड़े के इस सर्वोच्च पद पर एक ही व्यक्ति विराजमान होता है। लिहाजा निरंजनी अखाड़े के इस पद पर वे किसी भी विवादित संत को नही बैठने देंगे और इसके लिए न्यायालय का दरवाजा भी खटखटाया जाएगा।

स्वामी प्रज्ञानानंद के अनुसार उन्हें लगातार जान से मारने की धमकी मिल रही है। स्वामी प्रज्ञानानंद ने हरिद्वार के सप्तऋषि आश्रम में पत्रकार वार्ता करते हुए स्वामी कैलाशानंद पर कई गंभीर आरोप लगाए।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें