सितारगंज: शादी-ब्याह के व्यवसायी परेशान

व्यवसाईयों का कहना है कि कोरोना महामारी के चलते शादी ब्याह नहीं हो रहे हैं, जो बुकिंग थी वो भी कैंसिल हो चुकी हैं।

ख़ास बात:

  • शादी ब्याह के व्यवसायिओं ने उपजिलाधिकारी की सौंपा ज्ञापन
  • विशेष आर्थिक मदद की मांग
  • अर्थिक तंगी को रखा उप ज़िलाधिकारी के समक्ष
  • शादियां न होने से आर्थिक मंदी से जूझ रहे हैं व्यवसाई

सितारगंज: 22 मार्च से कोरोना महामारी की रोक धाम को लेकर देश भर में लॉक डाउन है, जो अब जाकर धीरे धीरे खुलने लगा है, और लोग अपने काम काज में जुट गए हैं। दुकानें, दफ्तर और सार्वजनिक वाहनों को भी चलने की अनुमति मिल गई है। वहीं समाज का एक वर्ग एसा भी है, जो लॉक डाउन खुलने के बाद भी अपना रोज़गार नहीं कर पा रहा है और वो है शादी समारोह से जुड़े काम करने वाले लोग।

इसी को लेकर सितारगंज के बैंड, बाजा, लाईट, बग्गी यूनियन के दर्जनों व्यवसाईयों ने अर्थिक मदद के लिए उपजिलाधिकारी विवेक प्रकाश को ज्ञापन सौंपा है। सभी व्यवसाईयों का कहना है कि कोरोना महामारी के चलते शादी ब्याह नहीं हो रहे हैं, और जो हो रहे हैं वहा से वे लोग कोई कमाई नहीं कर सकते। जो बुकिंग थी वो भी कैंसिल हो चुकी हैं। जिसके कारण अर्थिक हालात बिगड़ रहे हैं। व्यवसाईयों की मांग है कि उन्हें विशष आर्थिक मदद दी जाए, जिसे ले कर सभी उप-जिलाधिकारी के पास पहुंचे थे।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें