पौड़ी: वन माफिया की महिला अधिकारी को धमकी, रिकॉर्डिंग वायरल

खुद को वन मन्त्री हरक सिंह रावत का नजदीकी बताने वाला इस महिला निरीक्षक को धमकी देते हुए कहता है कि ‘अगर उसने काम नहीं किया तो वो उसे इसी दुनिया में केदारनाथ दिखा देगा’।

ख़ास बात:

  • पौड़ी में वन माफिया की धमकी, फ़ोन रिकॉर्डिंग वायरल
  • महिला राजस्व निरीक्षक को परिवार समेत मारने की दी धमकी
  • ‘इसी दुनिया में केदारनाथ दिखा दूंगा’
  • वन मंत्री हरक सिंह रावत का नजदीकी कहता है खुद को

पौड़ी: प्रदेश में इस नाज़ुक दौर में लॉकडाउन में ढील क्या दी गयी है मानो माफिया सक्रिय होने लगे हैं। पौड़ी जनपद में चौबट्टाखाल तहसील के अंतर्गत वन माफ़िया द्वारा महिला राजस्व निरीक्षक कविता फर्सवाण को फोन पर जान से मारने की धमकी देने का मामला प्रकाश में आया है। वन माफ़िया का नाम अमित रावत है और वह कोटद्वार का रहने वाला है। आप खुद ही सुन लीजिये कि कैसे ये जनाब एक सरकारी कर्मचारी, जो कि उस से भी पहले एक महिला है, उससे किस तरह धमकी भरे अंदाज़ में बात कर रहा है। यह फोन पर खुद को वन मन्त्री हरक सिंह रावत का नजदीकी बताने वाला इस महिला निरीक्षक को धमकी देते हुए कहता है कि ‘अगर उसने काम नहीं किया तो वो उसे इसी दुनिया में केदारनाथ दिखा देगा’।

यहाँ सुनिए किस धमकी भरे अंदाज़ में उसने महिला राजस्व निरीक्षक से बात की… सुनें पूरी फ़ोन कॉल:

कविता का कहना है कि पिछली बार भी इसने पेड़ काटने की अनुमति से संबंधित फाइल को आगे न बढ़ाने को लेकर कविता को ट्रांसफर कराये जाने की भी धमकी दी थी और इस बार उसने फोन पर उसे और उसके परिवार के सदस्यों को जान से मारने की धमकी दी है। अमित रावत को राजस्व कर्मियों ने अपनी हिरासत में ले लिया है और पौड़ी के जिलाधिकारी और चौबट्टाखाल के उप जिलाधिकारी को मामले की रिपोर्ट भेजी जा रही है।

हरक सिंह रावत वन मन्त्री हैं और उनका नाम लेकर अगर कोई वन माफ़िया राजस्व कर्मी को धमकाता है। तो मामला काफी गंभीर हो जाता है, ऐसी स्थितियों में किसी भी राजस्व कर्मी और विशेष तौर पर महिला राजस्व कर्मी का ग्रामीण क्षेत्रों में काम करना बेहद मुश्किल हो जायेगा।

उम्मीद है कि पौड़ी जिला प्रशासन और सरकार इस मामले का संज्ञान लेकर माफ़िया के खिलाफ कठोर कार्रवाई करेंगे। साथ ही वन मन्त्री हरक सिंह रावत से भी इस बारे में पूछा जाना चाहिए कि क्या उनकी विधानसभा कोटद्वार का वन माफ़िया अमित रावत उनका रिश्तेदार है या नजदीकी या कुछ और! मामले की गम्भीरता तो देखते हुए जिलाधिकारी पौड़ी ने इसकी जांच सी०ओ० कोटद्वार को दी है। वहीं स्थानीय लोगो मामले की गम्भीरता को देखते हुए अमित रावत पर कड़ी कार्यवाही करने की मांग की है।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें