कोरोना के बाद अब दूसरी जंग को तैयार उत्तराखंड

अभियान के तहत ‘हर रविवार – पंद्रह मिनट डेंगू पर वार’ करने के लिए आमजन से हर रविवार को 15 मिनिट का समय निकालकर घर और घर के आस पास एकत्र पानी को हटाने का आह्वान किया है।

 

देहरादून: कोरोना से पूरा विश्व लड़ रहा है, वहीं भारत में भी इसके चपेट में लाखों लोग आ चुके हैं। बात उत्तराखंड की करें तो यहां भी इसका आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। पर उत्तराखंड में अब कोरोना के साथ डेंगू का भी खतरा बढ़ गया है।

आपको बता दें कि मानसून सीज़न में उत्तराखंड में लोग डेंगू से प्रभावित होते है और अपनी जान गवाँते है। इस बार उत्तराखंड को दो जगहों पर एक साथ लड़ना है जिसकी तैयारी सरकार ने शुरू कर दी है। मुख़्यमंत्री त्रिवेंद्र सिहं रावत ने एक अभियान के तहत डेंगू से बचने का लोगों से आग्रह किया है। इस अभियान के तहत ‘हर रविवार – पंद्रह मिनट डेंगू पर वार’ करने के लिए आमजन से हर रविवार को 15 मिनिट का समय निकालकर घर और घर के आस पास एकत्र पानी को हटाने का आह्वान किया है।

इस अभियान के तहत आज मुख़्यमंत्री ने खुद अपने घर में जमा पानी हटाया। इसके साथ ही डेंगू की रोकथाम के लिए प्रदेश में लगातार शासन स्तर पर बैठकें और विडिओ कांफ्रेंस के ज़रिये प्रदेश में नजर रखी जा रही है।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सचिवालय में कोविड-19 और डेंगू की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग और जिलाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की।

वहीं डेंगू की रोकथाम को लेकर मुख्यमंत्री ने हर रविवार को विशेष अभियान चलाए जाने के निर्देश दिये हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि डेंगू पर भी सतर्क और सावधान रहना है। हर रविवार को विशेष अभियान चलाया जा रहा है और लोगों को प्रेरित किया जाए कि हर रविवार को केवल 15 मिनिट का समय निकालें और अपने घर में या घर के आसपास इकट्ठा पानी को हटा दें। डेंगू को न पनपने दें। साफ पानी में ही डेंगू पनपता है। हमें डेंगू को पनपने नहीं देना है। इसके लिए अपने घर और घर के आस पास पानी इकट्ठा न होने दें। हम हर सप्ताह रविवार को केवल 15 मिनिट का समय निकालें और डेंगू पर वार करें। इसमें लोगों की सहभागिता जरूरी है।

वहीं प्रशासन स्तर पर भी डेंगू से निपटने को तैयारी शुरू कर दी गयी है। वित्त सचिव अमित नेगी ने कहां है कि न सिर्फ मानसून को लेकर सरकार पूरी तैयारी करने की कवायद में जुटी हुई है बल्कि मौसमी बीमारी डेंगू से निजात दिलाने के लिए भी सरकार और विशेष रूप से स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से सतर्क और तैयार है। साथ ही उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की अध्यक्षता में हर शनिवार को समीक्षा बैठक की जाती है कि आखिर राज्य के सभी जिलों में कोविड-19 को लेकर, डेंगू को लेकर और मानसून को लेकर किस तरह की व्यवस्थाएं हैं।

चिकित्सालयों से जुड़ी व्यवस्थाओं या फिर बीमारियों से निपटने के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों के सभी पहलुओं पर मुख्यमंत्री लगातार मॉनिटरिंग कर रहे हैं। लिहाजा ज़िलों से समय-समय पर मुख्यमंत्री को फीडबैक दिया जा रहा है ताकि कोविड और डेंगू के साथ ही मानसून के दौरान होने वाली तमाम घटनाओं से निपटने की तैयारी हो।

यही नहीं इसके साथ ही जो अन्य व्यवस्थाएं हैं उनको भी बेहतर बना कर रखा जा सके इसके लिए लगातार मुख्यमंत्री नजर बनाए हुए हैं ताकि स्वास्थ विभाग के साथ अन्य अधिकारी भी लगातार सतर्क रहें।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें