महाशिवरात्रि: शिवालयों पर जलाभिषेक हेतु नहीं रही वो रौनक

आज हरिद्वार में सोमवती अमावस्या का स्नान भी है लेकिन प्रशासन द्वारा किये गए लॉकडाउन के कारण आज हर की पौड़ी पर भी सन्नाटा पसरा रहा।

 

हरिद्वार: आज महाशिवरात्रि का पर्व है। शिवरात्रि पर्व पर धर्मनगरी हरिद्वार के शिवालयों में भगवान भोले नाथ का जलाभिषेक करने के लिए हमेशा से ही सुबह तड़के से भक्तों की भारी भीड़ लगा करती थी।

लेकिन कोरोनावायरस के कारण इस वर्ष उत्तराखंड के 04 ज़िलों में लगे लॉकडाउन के कारण सुबह से ही दक्षेश्वर महादेव, तिलभांडेश्वर महादेव, गौरी शंकर और नीलेश्वर महादेव मंदिरों पर भक्तों को भोलेनाथ का जलाभिषेक करने की अनुमति नहीं दी गई। परन्तु मध्य में हरिद्वार स्थित बिल्केश्वर महादेव मंदिर पर भक्तों को भगवान भोलेनाथ का जलाभिषेक करने के लिए अनुमति दी गई, जिससे श्रद्धालुओं में काफी उत्साह देखने को मिला।

आज सुबह से ही बिल्केश्वर मंदिर पर श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। मंदिर प्रशासन व पुलिस प्रशासन द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए सभी श्रद्धालुओं को बिल्केश्वर मंदिर में भोलेनाथ पर जल चढ़ाने की अनुमति दी गई है। भक्त भी मंदिर में भगवान् भोलेनाथ पर जल चढ़ाकर प्रसन्न हैं और भगवान से इस कोरोना महामारी से निजात दिलाने की कामना कर रहे हैं।

वहीं दूसरी ओर भगवान भोलेनाथ की ससुराल कनखल के दक्षेश्वर महादेव मन्दिर मे जलाभिषेक करने के लिए भक्तों की भीड़ उमड़ी लेकिन श्रद्धालुओं को दक्षेश्वर महादेव मंदिर में भोलेनाथ पर जल चढ़ाने की प्रशासन व मंदिर परिषद द्वारा अनुमति प्रदान नहीं की गई।

आज हरिद्वार में सोमवती अमावस्या का स्नान भी है लेकिन प्रशासन द्वारा किये गए लॉकडाउन के कारण आज हर की पौड़ी पर भी सन्नाटा पसरा रहा। कल भी सोमवती अमावस्या का स्नान है लेकिन प्रशासन द्वारा दिए गए दिशा-निर्देशों के अनुसार किसी भी स्थानीय व बाहर से आए यात्रियों को गंगा स्नान करने की अनुमति नहीं है।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें