अमन मणि सलाखों के पीछे; रसूख नहीं आया काम

ख़ास बात:

  • उत्तर प्रदेश के पूर्व विधायक अमरमणि त्रिपाठी के बेटे हैं अमन मणि
  • बद्रीनाथ जाने से रोके जाने पर अधिकारीयों से भीड़ गए थे अमनमणि
  • लॉक डाउन पास के नियमों का किया पूरा उल्लंघन
  • छः अन्य लोगों समेत हुए बिजनौर से गिरफ्तार

देहरादून: देश में लागू लॉक डाउन के बीच उत्तर प्रदेश के पूर्व विधायक अमरमणि त्रिपाठी के बेटे और नौतनवा सीट से बीजेपी विधायक अमनमणि त्रिपाठी को छः अन्य लोगों के साथ लॉक डाउन के नियमों के उल्लंघन के चलते उत्तर प्रदेश के बिजनौर ज़िले में गिरफ्तार कर लिया गया है।

इस से पूर्व रविवार को अमनमणि त्रिपाठी ने अपने साथियों के साथ बद्रीनाथ जाने से रोके जाने पर कर्णप्रयाग हाईवे पर चेकिंग कर रहे पुलिसकर्मियों व एसडीएम के साथ बदसलूकी की थी।

बताया जा रहा है कि यात्रा के लिए त्रिपाठी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के पिता के कर्म का हवाला दिया था, जिसे लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने इस बात को सिरे से नकार दिया है।

उपरोक्त सन्दर्भ में केदारनाथ विधायक मनोज रावत ने मुख्य सचिव को पत्र लिखते हुए अमनमणि को यात्रा में अनुमति देने वाले अधिकारी पर भी कार्रवाई की माँग की है।

 

अमनमणि त्रिपाठी के पास उत्तराखंड सरकार में सचिव ओमप्रकाश की अनुमति से तीन इनोवा कार व 11 संबंधियों के लिये बद्रीनाथ-केदारनाथ जाने के लॉक डाउन पास भी मौजूद था।

लॉक डाउन के दौरान जहाँ किसी को भी कहीं भी जाने की परमिशन नहीं है, यहां तक कि लोग अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो पा रहे हैं, ऐसे में यूपी के विधायक अपने पूरे लाव-लश्कर के साथ उत्तराखंड के ग्रीन जोन इलाकों में धड़ल्ले से निकल गए। ज़ाहिर है इसमें राज्य प्रशासन की भी बहुत बड़ी लापरवाही देखने को मिली।

उत्तराखंड सरकार में सचिव ओमप्रकाश के द्वारा जारी किए गए पास में विधायक को उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता के पितृ कार्य की पूजा अर्चना करवाने के लिए बद्रीनाथ जाने की अनुमति दी गई थी जो अपने आप में हास्यास्पद है। एसडीएम के अनुसार कपाट बंद होने पर भी बद्रीनाथ जाने के लिए अड़े नेता जी एसडीएम से फ़ोन पे भी बदसलूकी कर गए। इतना ही नहीं रसूख के नशे में चूर विधायक द्वारा नियमों का पालन करना भी ज़रूरी नहीं समझा गया जो कि लॉक डाउन पास के अनुसार किये जाने थे।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें