मसूरी में आई तेज़ बारिश और आंधी से भारी नुकसान

इस घटना के चलते टैक्सी चला कर अपने परिवार का भरणपोषण करने वाले टैक्सी चालकों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है।

 

रिपोर्ट: प्रेम सिंह

मसूरी: पहाड़ों की रानी मसूरी में कल देर रात हुई मूसलाधार बारिश ने कहर बरपा दिया है। बारिश और तेज हवा के चलते मसूरी-देहरादून मुख्य मार्ग बस स्टैंड के पास एक बहुत बड़े बांज के पेड़ के गिरने से चार टैक्सी पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई हैं। इसके अलावा एक अन्य टैक्सी भी आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुई है। इस घटना के चलते टैक्सी चला कर अपने परिवार का भरणपोषण करने वाले टैक्सी चालकों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है।

जहां एक ओर कोविड-19 के चलते उनका रोजगार प्रभावित हुआ है, वहीं अब उनकी गाड़ियां क्षतिग्रस्त होने से रोजगार बिल्कुल ही ठप हो गया है। गनीमत रही कि जब घटना हुई कोई गाड़ी में नही था।

वहीं मौके पर पहुंचे भाजपा मसूरी मंडल अध्यक्ष मोहन पेटवाल का आरोप है कि लोगों द्वारा अपने कॉटेजों और प्रोपर्टी में लगे पेड़ों की जड़ों को जान कर गलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि लोगों द्वारा पेड़ों की जड़ों में सीमेंट और टाइलें आदि लगा कर पानी रोक दिया जा रहा है,जिससे पेड़ गल रहे हैं और हादसे हो रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि उन्होंने मसूरी विधायक और एसडीएम से बात की है कि इन टैक्सी वालों को सरकार से उचित मुआवजा मिल सके।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें