मानसून की तैयारी में चाक-चौबस्त इंतजाम के साथ पौड़ी प्रशासन

जिलाधिकारी ने कोटद्वार, दुगड्डा, सतपुली, श्रीनगर जैसे कई क्षेत्रों को संवेदनशील माना है जहां पर पिछले कुछ वर्षो में आपदा की घटनाएं लगातार बढ़ी हैं।

पौड़ी: पौड़ी में मानसून सीजन से निपटने के लिये जिला प्रशासन ने अपनी सभी तैयारियों को पूर्ण बताया है। जिलाधिकारी ने कोटद्वार, दुगड्डा, सतपुली, श्रीनगर जैसे कई क्षेत्रों को संवेदनशील माना है जहां पर पिछले कुछ वर्षो में आपदा की घटनाएं लगातार बढ़ी हैं। ऐसे में प्रशासन लगातार मुस्तैदी के साथ इन क्षेत्रों में काफी चौकस और सर्तक रहेगा।

वहीं मानसून सीजन में उफनती नदियां अपना रौद्र रूप न दिखाये इसको लेकर कोटद्वार, सतपुली और श्रीनगर क्षेत्र में पहले ही रिवर ट्रेनिंग के तहत खनन करवाया गया है जिससे अत्याधिक वर्षा होने पर नदियों में ज्यादा उफान न आये। इसके साथ ही नदियों के इर्द-गिर्द बसे लोगों को सर्तक रहने के लिये सचेत किया गया है।

जिलाधिकारी ने बताया कि मानसून सीजन में कई बार जलभराव की स्थिति उत्पन्न होती है। ऐसे में नगर पालिका को भी निर्देश दिये गये हैं कि नालियों को चोक न होने दें और जलभराव की स्थिति पर पूरी नजर बनाये रखें।

वहीं बरसात सीजन में लैंडस्लाइड की घटनाओं के कारण बाधित सड़कें ग्रामीणों के आगे खाघान्न संकट पैदा न करे इसके लिये जल्द से जल्द इन क्षेत्रों में राशन पहुंचाने के निर्देश भी संबधित अधिकारी को दिये गये हैं। इसके साथ ही लैंडस्लाईड के कारण बाधित सड़कों को खोलने के लिये लोक निर्माण विभाग के कर्मियों को तैनाती दी गई है जो कि जेसीबी के माध्यम से बोल्डर को हटाकर बाधित आवाजाही को सुचारू करेंगे।

आपदा की घटनाओं पर आपदा कंट्रोल रूप 24 घंटे नजर बनाये रखेगा और पल-पल की जानकारी जिलाधिकारी को देगा।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें