हरेला पर्व

पौड़ी: हरेला पर लगाये बुरांश, बांज, देवदार, काफल के पेड़

हरेला पर्व खुशहाली का पर्व है। राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिह रावत ने हरेला पर्व के दौरान राज्य भर में 2 करोड़ वृक्षारोपण करने का लक्ष्य रखा है।

डाण्डा लाखौण्ड में रही हरेला की धूम

इस कार्यक्रम को फॉरेस्ट डिपार्टमेंट का भी सहयोग मिला और कार्यक्रम के लिए फलदार व फूलदार वृक्षों के पौधे वन विभाग की ओर से उपलब्ध कराये गए।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने दी हरेला पर्व की बधाई

सीएम ने कल 16 जुलाई को हरेला पर्व पर कम से कम एक पौधा लगाने का संकल्प लेने की अपील की।

राघोमल इंटर कालेज में मनाया गया हरेला पर्व

उत्तराखण्ड का हरेला पर्व सिर्फ एक त्यौहार न होकर यहाँ की जीवनशैली का प्रतिबिंब है। ये पर्व प्रकृति के साथ संतुलन साधने वाला पर्व है।

वन महोत्सव का शुभारम्भ – इस वर्ष 2 करोड़ पौधारोपण का लक्ष्य

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि वन विभाग का इस साल दो करोड़ से अधिक पौधारोपण का लक्ष्य रखा गया है जिससे पर्यावरण का संरक्षण हो सके।

शिक्षा मंत्री ने किया हरेला त्योहार पर वृक्षारोपण

इस मौके पर शिक्षा मंत्री ने कहा कि हरेला पर्व प्रमुख त्योहारों में माना जाता है। उन्होंने कहा कि हमारी प्रकृति जितनी स्वस्थ होगी उतने ही हम सभी स्वस्थ होंगे। 

वन विभाग ने शुरू की हरेला पर्व की तैयारियाँ

पिछली सरकार में मुख्यमंत्री ने इस पर्व को धूमधाम से मनाना शुरू किया था जिसके बाद से मैदानी इलाकों में रहने वाले लोगों को भी इस लोक पर्व के बारे पता लगा।

गैरसैण बनेगी ई-विधानसभा: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रीष्म कालीन राजधानी गैरसैंण को ई-विधानसभा बनाया जायेगा। उत्तराखण्ड सरकार ने ई-कैबिनेट की शुरूआत की है।