कुम्भ का आयोजन

महाकुम्भ ’21 | मेले की भव्यता, दिव्यता पर अखाड़ा परिषद् की अहम् बैठक

मेले में पूर्व की तरह ना केवल भव्य पेशवाई और शाही यात्रा निकलेंगी बल्कि मेला क्षेत्र में टेंट भी लगेंगे।

महाकुंभ ’21 | कनखल स्थित विश्वप्रसिद्ध सतीकुण्ड में जलेगी अखंड ज्योत

मान्यता है कि भोलेनाथ के अपमान से नाराज माता सती ने इसी स्थल पर हवन कुंड में कूद कर जान दे दी थी।

अखाड़ा परिषद की मांग – अशोक सिंघल को भारत रत्न, पालघर काण्ड में सीबीआई जांच

अखाड़ा परिषद ने विश्व हिंदू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे दिवंगत अशोक सिंघल को मरणोपरांत भारत रत्न देने की, पालघर में हुई संतो की हत्या की सीबीआई जांच की व हरिद्वार में कुंभ कार्यों में तेजी और नए घाटों का नामकरण इष्ट देवों के नाम पर करने की मांग की है।

हरिद्वार: कुम्भ को लेकर असमंजस का माहौल

महाकुंभ के आयोजन के लिए उत्तराखंड सरकार के भाजपा विधायक ही सरकार की मंशा पर सवाल खड़े कर रहे हैं और सरकार से जल्द से जल्द कुम्भ के आयोजन को लेकर स्थिति स्पष्ट करने की मांग कर रहे हैं।

हरिद्वार कुम्भ मेला | म्यूज़िक व तकनीक से लैस मोबाइल टॉयलेट पर विचार

इस मोबाइल टॉयलेट की खासियत यह है कि इसे म्यूजिक का आनंद लेते हुए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। टॉयलेट का इंटीरियर भी काफी आकर्षक है और इसे महिला और पुरुष दोनों इस्तेमाल कर सकते हैं।

कुम्भ के स्वरुप पर संशय बरक़रार

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष सरकार की तैयारियों से तो संतुष्ट नजर आए पर उन्होंने कहा कि कोरोना के मद्देनजर कुंभ उतना भव्य और दिव्य नहीं हो पाएगा जैसा कि होना चाहिए।

हरिद्वार: तय समय पर होगा कुम्भ

सन्यासियों के सबसे बड़े जूना अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर अवधेशानंद गिरी ने कहा है कि इस बार कुम्भ का योग कई शताब्दियों के बाद 11 सालों में बना है लिहाजा कुम्भ के स्थगन का कोई सवाल ही नही पैदा होता।