Home ट्रेंडिंग मसूरी | पर्यटन नगरी को छलनी करतीं बदहाल सड़कें

मसूरी | पर्यटन नगरी को छलनी करतीं बदहाल सड़कें

 

रिपोर्ट: सुनील सोनकर

मसूरी | पहाड़ों की रानी मसूरी में राष्ट्रीय राजमार्ग का हाल बेहाल है। मार्ग पर कई जगह बड़े-बड़े गड्ढे हो रखे हैं जिससे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कई बार दुर्घटना भी हो चुकी है परंतु राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों को इससे कुछ लेना देना नहीं है।

मसूरी-देहरादून मार्ग जेपी बेंड के पास मुख्य चैराहे पर बड़े-बड़े गड्ढे मानिए किसी दुर्घटना को बुलावा दे रहे हैं। वहीं यातायात को व्यवस्थित करने के लिए तैनात ट्रैफिक पुलिस के कर्मचारियों को गड्ढों में पत्थर भरकर यातायात को सुचारु करना पड़ रहा है। वहीं दूसरी ओर टिहरी-धनोल्टी बाईपास सड़क पर बड़े-बड़े गड्ढे हो रखे हैं जहां पर वाहन हिचकोले लेते हुए नजर आ रहे हैं। कई बार दो पहिया वाहन चालक अनियंत्रित होकर गिर गए है जिससे गई लोग चोटिल भी हो चुके है परन्तु ना तो राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारी और ना ही प्रशासन इस ओर ध्यान दे रहा है।

वहीं सड़क पर हो रखे गडडों के कारण पर्यटकों भी काफी मायूस हैं। उनका कहना है कि मसूरी जैसे ऐतिहासिक पर्यटन स्थल की सड़कें काफी अच्छी होनी चाहिए थी परंतु मसूरी के प्रवेश द्वार जेपी बैंड पर ही बड़े-बड़े खड्डे हो रखे हैं जिस वजह से कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। वहीं टिहरी-धनोल्टी बाईपास और मसूरी-केम्पटी रोड का भी हाल बेहाल है।

60 फीसदी माता-पिता चाहते हैं दो माह में शुरू किए जाएं बच्चों के स्कूल

पूर्व पालिकाध्यक्ष ओपी उनियाल ने बताया कि उनके द्वारा पूर्व में राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों से सड़क की खराब हालत को लेकर शिकायत की गई थी जिसपर मसूरी की कुछ सडकों को ठीक भी किया गया था। उन्होंने आश्वासन दिया कि वो जल्द मसूरी की अन्य राष्ट्रीय राज्यमार्ग की सडको की मरम्मत करने को लेकर उच्च अधिकारियों से वार्ता करेंगे।

सामाजिक कार्यकर्ता ललित मोहन काला ने बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों का हाल बेहाल है । उन्होने कहा कि राष्ट्रीय राज्यमार्ग के अधिकारी और कई बड़े अधिकारी और नेता आये दिन इसी मार्ग से गुजरते हैं परंतु कोई भी दिशा में कार्रवाई करने को तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग का मुख्यालय देहरादून है और ऐसे में मसूरी क्षेत्र के आसपास कोई भी उनका कोई कार्यालय नहीं है जिस वजह से अधिकारी मसूरी आते ही नहीं है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि मसूरी में राष्ट्रीय राजमार्ग का कार्यालय खोला जाए।

उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी द्वारा पूरे देश की सड़कों को ऑल वेदर रोड के तहत ठीक कराने का काम किया जा रहा है परंतु लापरवाह अधिकारी उनके मंसूबों पर पानी फेरने का काम कर रहे हैं जो दुर्भाग्यपूर्ण है।

You may also like

Leave a Comment