Newz Studio

ख़बर उत्तराखंड की

60 फीसदी माता-पिता चाहते हैं दो माह में शुरू किए जाएं बच्चों के स्कूल

1 min read
60 फीसदी माता-पिता चाहते हैं कि बच्चों के स्कूल अगले 60 दिन यानी दो महीने के भीतर खोल दिए जाएं।

नई दिल्ली । कोरोना संक्रमण के लगातार घटते मामलों और वैक्सिनेशन के प्रति बढ़ते विश्वास के नतीजे अब दिखने लगे हैं। लोकल सर्कल के सर्वे में 60 फीसदी माता-पिता चाहते हैं कि बच्चों के स्कूल अगले 60 दिन यानी दो महीने के भीतर खोल दिए जाएं। हालांकि, 32 फीसदी पैरंट्स के मन में अब भी संशय है और उनका मानना है कि जून-जुलाई से स्कूल खोले जाने चाहिए।

62 वर्षों में सबसे गर्म रहा जनवरी, दक्षिण भारत में टूटा 121 साल का रिकॉर्ड

लोकल सर्कल ने 24 राज्यों के 294 जिलों से मिली 16000 प्रतिक्रियाओं के आधार पर अपना निष्कर्ष दिया है। उल्लेखनीय है कि दिसंबर में किए गए सर्वे में 69 फीसदी माता-पिता इस पक्ष में थे कि अप्रैल 2021 से स्कूल दोबारा खोल दिए जाने चाहिए। उल्लेखनीय है कि सरकार ने 50 लाख हेल्थ वर्कर्स को कोविशील्ड और कोवैक्सिन के वैक्सिनेशन का लक्ष्य निर्धारित किया है और कोरोना के भी नए मामलों में 10 से 15 फीसदी की गिरावट देखी जा रही है।

 चमोली आपदा | ग्लेशियर टूटा या हुआ हिमस्खलन,, पता लगाने पहुंचे डीआरडीओ वैज्ञानिक

भारत में कोरोना के 75 फीसदी मामले केवल दो राज्यों, केरल और महाराष्ट्र में देखे जा रहे हैं। इन सबके बीच नौवीं से 12वीं तक की कक्षाएं शुरू की जा चुकी हैं। इससे पैरंट्स में भरोसा बढ़ा है। करीब 8524 पैरंट्स यानी 14 फीसदी लोगों ने कहा कि उनके बच्चों के स्कूल तो खुल चुके हैं लेकिन वे बच्चों को स्कूल न भेजकर ऑनलाइन क्लासेज ही करा रहे हैं। वहीं 17 फीसदी ने कहा कि 15 फरवरी के बार स्कूल खोले जाने चाहिए। 20 फीसदी ने कहा कि एक मार्च से स्कूल खुलें, जबकि एक फीसदी ने कोई राय नहीं दी। 13 फीसदी लोगों ने कहा कि एक अप्रैल से स्कूल खोले जाएं।