रामदेव की कोरोनिल पर उठे सवाल; आयुष विभाग ने झाड़ा पल्ला

उत्तराखंड आयुष विभाग ने कहा कि लाइसेंस लेने के दौरान दवा को इम्युनिटी बूस्टर और वाइरल की दवा बताया और अब उसे कोरोना वायरस की दवाई बताया जा रहा है।

देहरादून: बीत मंगलवार बाबा रामदेव ने ज़ोर-शोर से कोरोना वायरस की दवा खोज लेने के दावे के साथ प्रेस कांफ्रेंस कर ‘कोरोनिल’ नामक दवा लॉन्च की। जहाँ पूरा विश्व अभी भी कोरोना के लिए एक असरदार तोड़ तलाश रहा है, वहां बाबा रामदेव का दावा था कि कोरोनिल 7-14 दिनों के भीतर कोरोना संक्रमित व्यक्ति को ठीक कर देगी।

लेकिन इन तमाम दावों के साथ ही देश भर में कई सवाल उठ खड़े हुए।  तमाम उठते हुए सवालों के चलते जब मामला तूल पकड़ने लगा, तो आयुष मंत्रालय ने इस पर बाबा से किनारा करते हुए मामले को संज्ञान में लेते हुए इस दवा के प्रचार-प्रसार पर रोक लगा दी। साथ ही मंत्रालय ने इस पर पतंजलि से आवश्यक जानकारियां भी मांगी हैं।

आयुष मंत्रालय ने कहा कि पतंजलि कंपनी ने जो दावा किया है उसके फैक्ट और साइंटिफिक स्टडी को लेकर मंत्रालय के पास कोई जानकारी नहीं पहुंची है। मंत्रालय ने पतंजलि से ये भी कहा कि इस तरह का प्रचार करना कि इस दवाई से कोरोना का 100 प्रतिशत इलाज होता है, ड्रग्स एंड मैजिक रेमेडीज (आपत्तिजनक विज्ञापन) कानून 1954 का उल्लंघन है।

मंत्रालय की इस प्रतिक्रिया के बाद पतंजलि की ओर से कहा गया कि ‘कम्युनिकेशन गैप था, वो अब दूर हो गया है। पतंजलि रिसर्च फाउंडेशन ट्रस्ट के अनुसार उन्होंने मंगलवार को ही आयुष मंत्रालय को दवा से जुड़ी सभी जानकारियाँ दे दीं हैं।

इस बीच उत्तराखंड आयुष विभाग ने भी कहा कि बाबा की फार्मेसी ने लाइसेंस लेने के दौरान दवा को इम्युनिटी बूस्टर और वाइरल की दवा बताया और अब उसे कोरोना वायरस की दवाई बताया जा रहा है।

पत्रकारों द्वारा जब उत्तराखंड के आयुष मंत्री हरक सिंह से सवाल किया तो उन्होंने इसे महज सामान्य इम्युनिटी बूस्टर बताया। हरक सिंह ने कहा कि रामदेव की कंपनी से पूछा जा रहा है कि जब लाइसेंस इम्युनिटी बूस्टर के रूप में दिया गया तो फिर कोरोना की दवाई के रूप में इसे क्यों प्रचारित किया जा रहा है? इसके लिए जवाब लिया जा रहा है। हरक सिंह ने कहा कि जो औषधि आयुष विभाग काफी समय से बांट रहा है वही चीजें रामदेव के कोरोनिल में भी है। इसके लिए केंद्र को भी राज्य आयुष विभाग जवाब देकर अपनी स्थिति की क्लियर करने जा रहा है।

Leave a Reply