पौड़ी | जिला चिकित्सालय के कर्मचारियों पर क्यों छा रहा रोज़गार का संकट?

पीपीपी मोड पर जाने के बाद पीआरडी कर्मचारियों को सेवा समाप्ति के नोटिस भेजे जा रहे हैं।

 

पौड़ी | जिला चिकित्सालय पौड़ी के पीपीपी मोड पर जाने के बाद अब वहां वर्षों से काम कर रहे पीआरडी कर्मचारियों को सेवा समाप्ति के नोटिस भेजे का सिलसिला शुरू कर दिया गया है जिससे इन लोगों के समक्ष रोजी रोटी का संकट पैदा हो गया है।

इस संबंध में इन कर्मचारियों ने आज अपर जिला अधिकारी से मुलाकात कर उन्हें ज्ञापन भी दिया। वहीं अपर जिलाधिकारी ने बताया कि जिला अस्पताल में पीआरडी के माध्यम से लगे कर्मचारियों को उनकी सेवा को देखते हुए सीएमओ पौड़ी व सीएमएस जिला अस्पताल को उनके समायोजन के लिए निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि सभी कर्मचारियों का जिले में खाली पदों के सापेक्ष समायोजन कराया जाएगा।

बढती हुई कीमतों के बीच क्या ख़त्म होगी एलपीजी पर सब्सिडी?

कर्मचारी योगेंद्र कुमार ने बताया कि वह आज अपर जिला अधिकारी से मुलाकात की और उन्हें ज्ञापन भी दिया। योगेंद्र ने बताया कि कर्मचारी जिला अस्पताल में अपनी सेवाएं 14 सालों से दे रहे थे जो कि अलग-अलग पदों पर यहां कार्यरत थे। उन्होंने कहा कि सभी कर्मचारियों ने कोरोना काल में पूर्णता अपनी सेवाएं दी थी जिसके बाद जिला अस्पताल पीपीपी मोड में जाने के बाद इन्हें नौकरी से हटाया जा रहा है। सभी कर्मचारियों ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर उन्हें समायोजित नहीं किया जाता है तो वह आंदोलन को मजबूर होंगे

Leave a Reply