वैक्सीन लगवाने के बाद मुझे कोई साइड इफेक्ट नहीं हुआ: एम्स निदेशक

डॉ. गुलेरिया ने कहा कि वैक्सीन का मुझ पर कोई साइड इफेक्ट नहीं है, मैं सुबह से काम कर रहा हूं।

एम्स निदेशक गुलेरिया
Picture Courtesy: Social Media

नई दिल्ली | दिल्ली के एम्स के निदेशक डॉ.रणदीप गुलेरिया ने देश में कोविड वैक्सीन लगवाने के एक दिन बाद अपना अनुभव सांझा किया। डॉ. गुलेरिया ने कहा कि वैक्सीन का मुझ पर कोई साइड इफेक्ट नहीं है, मैं सुबह से काम कर रहा हूं। अभी भी मीटिंग कर रहा हूं। मैं बिल्कुल ठीक हूं।

डॉ. रणदीप गुलेरिया ने लोगों से वैक्सीन लगाने के बाद साइड इफेक्ट और एलर्जी की चर्चा करते हुए;कहा कि मामूली साइड इफेक्ट से हमें डरने की जरूरत नहीं है, अगर आप कोई भी दवाई लेते हैं, तो कुछ एलर्जिक रिएक्शन हो सकता है और ऐसा रिएक्शन क्रोसिन, पैरासिटामोल जैसी साधारण दवाई से भी हो सकता है। ऐसे में परेशान होने की आवश्यकता नहीं है।

डॉ. गुलेरिया ने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन से हार्ट अटैक नहीं होता है। इसके साधारण साइड इफेक्ट में शरीर में दर्द, जहां टीका लगा है, वहां पर थोड़ा सा दर्द, हल्का फीवर हो सकता है। ये साइड इफेक्ट 10 फीसद से भी कम लोगों को होते हैं।

17वीं लोकसभा का पांचवां सत्र 29 जनवरी से, 1 फरवरी को आम बजट

डॉ. गुलेरिया ने कहा कि अगर सीरियस साइड इफेक्ट की बात करें तो, शरीर पर चकत्ते निकल सकते हैं, घबराहट हो सकती है, सांस फूलने की समस्या हो सकती है। अगर ऐसा भी होता है, तो इसमें कोई घबराने की बात नहीं है, सब जगह इंतजाम किए गए हैं। साइड इफेक्ट से निपटने के लिए सेंटर बनाए गए हैं। डॉ. गुलेरिया ने लोगों से वैक्सीन लगवाने की अपील की।

उन्होंने कहा कि अगर अगर हमें को कोविड संक्रमण से बाहर निकलना है, मौत की दर को कम करना है, अर्थव्यवस्था वापस पटरी पर लानी है, तो हमें बिना झिझक वैक्सीन लेनी चाहिए।उन्होंने कहा कि देश में हमें स्कूल शुरू करने हैं, जिंदगी को नॉर्मल करना है, तो सभी को आगे आकर कोविड वैक्सीन लगानी चाहिए। तभी हम आगे बढ़ पाएंगे, तभी देश पहले की तरह पटरी पर लौट पाएंगा।

Leave a Reply