नगर निगम ने किया लाइसेंस शुल्क स्थगित

देहरादून: नगर निगम की और नगर निगम क्षेत्र में आने वाले सभी व्यापारियों पर पिछले दिनों लाइसेंस शुल्क लगाने के बाद आज नगर निगम को देहरादून के सभी व्यापारियों के सामने झुकना पड़ गया। देहरादून नगर निगम ने व्यापारियों के ज़ोरदार विरोध के चलते लाइसेंस शुल्क को स्थगित कर दिया है।

गौरतलब है कि लाइसेंस शुल्क लगाने के बाद शहर के सभी व्यापारी आक्रोशित थे और शहर के सभी व्यापार  मंडलों ने सैकड़ो की संख्या में नगर निगम परिसर में जोरदार प्रदर्शन कर मेयर का घेराव भी किया। इस दौरान व्यापारियों ने लाइसेंस के प्रस्ताव को वापिस लेने की मांग की।

प्रदर्शन के दौरान दून व्यापार मंडल के अध्यक्ष विपिन नागलोई ने बताया कि नगर निगम ने 19 जनवरी को 111 तरह के व्यापारों पर लाइसेंस शुल्क का प्रस्ताव पारित किया था। लाइसेंस शुल्क लगाने के बाद सभी व्यापारी मेयर से मिले लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला और सभी व्यापारियों ने नगर निगम में प्रदर्शन किया। अंततः व्यापारियों की जीत हुई और उनकी मांग स्वीकार कर ली गयी है ।

वहीं मेयर सुनील उनियाल गामा ने कहा कि व्यापारियों का लाइसेंस शुल्क स्थगित कर दिया गया है क्योंकि इस समय व्यापार में मंदी का दौर चल रहा है उन पर अत्यधिक बोझ न पड़े इसलिए इसको फिलहाल स्थागित किया गया।

लाइसेंस शुल्क व्यवस्था देश में कई शहरों में लागू है और देहरादून व्यापारियों का कहना है कि वे पहले ही कहीं अधिक टैक्स दे रहे हैं।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें