देहरादून: जन औषधि केंद्र की दवाइयों के लाभार्थियों से बीते शनिवार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के ज़रिये  बातचीत की। इस बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने उत्तराखण्ड की दीपा शाह से बातचीत की।

प्रधानमंत्री से संवाद के दौरान दीपा बेहद भावुक हो गयीं और प्रधानमंत्री से बोलीं कि उन्होंने भगवान को तो नहीं देखा पर उन्हें भगवान के रूप में ही देखा है।  उनकी ये बात सुनकर प्रधानमंत्री मोदी भी भावुक दिखाई दिए।

प्रधानमंत्री ने दीपा से बात करते हुए कहा कि उनका हौसला ही उनका भगवान है और इस बात का उल्लेख किया किकैसे जेनेरिक दवाएं लोगों के लिए लाभकारी हैं।

दीपा ने प्रधानमंत्री से बात करते हुए प्रधानमंत्री का धन्यवाद दिया और बताया कि सन 2011 में उनको पैरालिसिस हो गया था जिसके बाद वो बोल नहीं सकती थीं। डाक्टरों ने हाथ खड़े कर दिए थे। ऐसे में प्रधानमंत्री के जन औषधि केंद्र से जब उनको महंगी दवाइयां कम पैसों में मिलने लगीं, तब उनकी बड़ी मदद हुई ऐसे में प्रधानमंत्री के जन औषधि केंद्र से दवाइया लेने से न केवल उनकी बिमारी ठीक हुई  बल्कि उनके पैसे भी बचे। न सिर्फ उनकी सेहत में सुधर आ सका, बल्कि बचे हुए पैसों से उनको राहत भी मिली।

दीपा ने प्रधानमंत्री को बताया कि पहले उनकी दवाई पांच हजार की आती थी और अब वही दवाइयां जन औषधि केंद्र से मात्र पंद्रह सौ में आ रही हैं,  जिससे उनके तीन हजार से ज्यादा पैसे हर महीने बच रहे है और उन से उनका घर खर्च चल रहा है।

महिला ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत का भी धन्यवाद करते हुए कहा कि उन्होंने भी उनका काफी साथ दिया जिस कारण आज वो बोल पा रही हैं।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें