ये हो क्या रहा है? उत्तराखंड के मंत्री कर रहे ‘मोदी चालीसा’ पाठ

देश की इस विकट परिस्थिति में हम अपने नेताओं का साथ देना चाहते हैं, देश के साथ खड़े होने चाहते हैं, पर इस तरह के दृश्य देखकर कभी अफ़सोस होता है, कभी दिमाग शून्य में चला जाता है – यकीन नहीं होता कि ये सच में हो रहा है?

ख़ास बात: 
  • ये हो क्या रहा है?
  • मोदी चालीसा पर उठ रहे सवाल
  • उत्तराखंड के मंत्री कर रहे ‘मोदी चालीसा’ का पाठ
  • कोरोना के कहर के दौर में ये कैसी अंध-आस्था?
देहरादून: खबर देहरादून से हैं जहां हाल ही में बीजेपी सरकार के मंत्री धन सिंह रावत व विधायक गणेश जोशी ने मोदी चालीसा का विमोचन किया था ओर साथ ही वीडियो में युवा नेता आदित्य चौहान मोदी चालीसा का पाठ करते देखे जा सकते हैं।
देश की इस विकट परिस्थिति में हम अपने नेताओं का साथ देना चाहते हैं, देश के साथ खड़े होने चाहते हैं, पर इस तरह के दृश्य देखकर कभी अफ़सोस होता है, कभी दिमाग शून्य में चला जाता है – यकीन नहीं होता कि ये सच में हो रहा है?
आपको बता दें कि ये मोदी चालीसा चाटुकार नेताओं द्वारा नहीं लिखी गयी है जबकि मिली जानकारी के अनुसार इसको लिखने वाली महिला पढ़ी-लिखी पीएचडी होल्डर बुद्धिजीवी हैं। बावजूद इसके न सिर्फ लेखिका चाटुकारिता की सारी हदें पार कर गयी बल्कि उत्तराखंड सरकार में मंत्री व भाजपा विधायक अन्य बड़े नेताओं के साथ हाथ में चालीसा लिखा पन्ना पकड़ कर गुणगान करने में लगे हैं।
जहाँ पूरा देश यथार्थ की परिस्थिति से जूझता हुआ गरीब मजदूरों के ह्रदयस्पर्शी मार्मिक व्यथा का साक्षी बन रहा है, वहां शायद सत्ता, पद व और भी बड़े ओहदे की लालसा इंसान का दिमाग निष्क्रिय कर देती है ऐसा ये वीडियो देख कर लग रहा है।
कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने सवाल खड़े करते हुए इसकी कड़ी निंदा की है और कहा कि भारतीय जनता पार्टी की ऐसी मानसिकता हो चुकी है कि उन्हें ईश्वर में कोई आस्था नहीं है। उन्होनेने कहा कि ये बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि उत्तराखंड के मंत्री होकर वे मोदी चालीसा पढ़ रहे हैं। आपको बता दें कि इस पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने एफआईआर दर्ज करने के लिए भी पत्र दिया है।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें