आखिर मारा गया नरभक्षी गुलदार, ग्रामीणों ने ली राहत की सांस

चमोली जिले के नारायणबगड़ के कुलसारी और गैराबारम क्षेत्र में बहचर्चित आदमखोर गुलदार आखिरकार शिकारियों के हत्थे चढ़ ही गया है।

आखिर मारा गया नरभक्षी गुलदार, ग्रामीणों ने ली राहत की सांस
फाइल फोटो

नारायण बगड़, चमोली: पिछले 10 दिनों की लंबी जद्दोजहद के बाद आखिरकार शिकारी दल आदमखोर गुलदार को मारने में कामयाब हो ही गए।

इसी के साथ बीते दिनों में नरभक्षी गुलदार के आतंक के साए में जी रहे थे कुलसारी हरमनी क्षेत्र के ग्रामीणों को राहत मिल गई।

वन क्षेत्राधिकारी किशोर चौहान ने बताया कि शुक्रवार शाम 7:25 शिकारी दल जब गुलदार के मूवमेंट की रेकी कर रहा था तो अचानक आदमखोर गुलदार आ धमका। पहले से ही घात लगाकर बैठे शिकारी दल ने बिना समय गवाएं नरभक्षी गुलदार को निशाने पर लेकर ढेर कर दिया।

किशोर चौहान ने बताया कि आदमखोर गुलदार ने 29 जून को गैरबारम गांव के हरिधोन तोक में जहां 12 वर्षीय बालिका को अपना शिकार बनाया था उससे कुछ ही दूरी पर गुलदार को ढेर कर दिया गया। बताया जा रहा है कि शिकारी लखपत सिंह रावत और उनके पुत्र अजय रावत तथा पौड़ी के जॉय हुकिल ने एक साथ गुलदार पर फायर झोंका लेकिन यह मालूम नहीं हो पाया कि गुलदार किस की गोली का शिकार हुआ।

रेंजर चौहान ने बताया कि आदमखोर गुलदार मादा थी और उसकी उम्र तकरीबन 6 से 7 साल हो सकती है।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें