कुम्भ के स्वरुप पर संशय बरक़रार

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष सरकार की तैयारियों से तो संतुष्ट नजर आए पर उन्होंने कहा कि कोरोना के मद्देनजर कुंभ उतना भव्य और दिव्य नहीं हो पाएगा जैसा कि होना चाहिए।

 

हरिद्वार: हरिद्वार में अगले साल होने वाले कुंभ मेले में लगभग साढे़ 5 महीने का समय बचा है। सरकार और साधु-संतों की संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद अपने-अपने स्तर पर कुंभ मेले की तैयारियों में जुटी हैं लेकिन कोरोना महामारी के चलते कुंभ मेले के स्वरूप पर संशय अभी बरकरार है। इतना ही नहीं कुंभ के स्वरूप को लेकर अखाड़ा परिषद और सरकार के बयानों में भी विरोधाभास नजर आ रहा है।

आज शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने हरिद्वार पहुंचे अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी से मुलाकात की। इस मुलाकात में कुंभ की तैयारियों और कुंभ आयोजन के स्वरूप को लेकर चर्चा हुई। मीडिया से बात करते हुए अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी सरकार की वर्तमान तैयारियों से तो संतुष्ट नजर आए लेकिन उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के मद्देनजर कुंभ मेला उतना भव्य और दिव्य नहीं हो पाएगा जैसा कि होना चाहिए। हालांकि साधु-संतों की सभी परंपराएं विधिवत निभाई जाएंगी।

सरकार के प्रवक्ता मंत्री मदन कौशिक का कहना है कि कुंभ में किसी भी तरह का कोई परिवर्तन नहीं है। कुंभ मेले का आयोजन भव्य और दिव्य ढंग से होगा। आप भी सुनिए कुंभ को लेकर क्या है दोनों के बयान।  देखें विडियो।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें