दुग्ध उत्पादों की ब्रान्डिंग, पैकेजिंग पर ध्यान दिया जाये – मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने कुपोषित बच्चों को दुग्ध उत्पादों से निर्मित पौष्टिक आहार किट का भी वितरण किया।

 

देहरादून | उत्तराखंड सरकार की ओर से किसानों की आय को दोगुना करने के उद्देश्य से लगातार कार्य किया जा रहा है आज इसी कड़ी में दुग्ध विकास विभाग की ओर से कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की……कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्यमंत्री ने दीप प्रजवलन कर किया गया…..कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने राज्य सहकारी विकास परियोजना के अंतर्गत आंचल, बद्री गाय घी, पहाड़ी घी, आर्गेनिक घी, पनीर, डेरी ग्रोथ सेंटर एवं दुग्ध उत्पादक सेवा केन्द्रों का ई-लोकार्पण किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कुपोषित बच्चों को दुग्ध उत्पादों से निर्मित पौष्टिक आहार किट का भी वितरण किया।

मसूरी में कोरोना वैक्सीन खत्म होने से लोग परेशान

वहीं कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि दुग्ध सहकारी समितियों की मजबूती के लिए और प्रयास करने होंगे। दुग्ध और उससे बनने वाले उत्पादों की ब्रान्डिंग, पैकेजिंग और उनके लिए बाजार उपलब्ध कराने पर विशेष ध्यान दिया जाय। साथ ही उन्होंने कहा कि घी में अनेक औषधीय एवं आध्यात्मिक गुण हैं। उत्तराखण्ड के बद्री गाय के घी, पहाड़ी एवं आर्गेनिक घी की मांग भी तेजी से बढ़ रही है। दुग्ध उत्पादन और उससे निर्मित उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए प्रयास किये जा रहे हैं….वहीं पशुपालन एवं दुग्ध विकास राज्य मंत्री रेखा आर्य ने बताया कि सरकार की ओर से ऐसे प्रयास से दुग्ध उत्पादकों को काफी लाभ मिलेगा |

मसूरी | कैम्पटी क्षेत्र के जंगलों में आग का तांडव

उत्तराखंड की ख़बरें

Leave a Reply

ये भी पढ़ें