ऊधमसिंह नगर: गोलियों से गूँज उठा सिसैया गाँव; पुलिस बल तैनात

मछली पकड़ने को लेकर हुए विवाद में कुछ हथियारबंद लोगों ने  घर में घुसकर मारपीट की और कई राउंड फायरिंग भी की जिसमें 5 लोग घायल हो गए।

खास बात:

  • गांव में फायरिग की घटना से हडकंप
  • मछली पकड़ने को लेकर हुआ विवाद
  • घटना के बाद गांव में तैनात भारी पुलिस बल
  • फरार आरोपियों की तलाश ज़ारी
  • घायलों को उपचार के लिए पहुंचाया अस्पताल

ऊधमसिंह नगर लॉक डाउन के बीच सितारगंज के गांव कुँवरपुर सिसैया में गोलीकांड की ख़बर से गांव में हड़कम्प मचा हुआ है। बताया जा रहा है कि मछली पकड़ने को लेकर हुए विवाद में कुछ हथियारबंद लोगों ने इंद्रराम नामक व्यक्ति के घर में घुसकर मारपीट की और कई राउंड फायरिंग भी की जिसमें इंद्रराम का बड़ा भाई घायल हो गया।

इस घटना में चार अन्य लोगों को भी गंभीर चोटें आई हैं। पीड़ित परिवार ने पुलिस में तहरीर दी और बताया कि आरोपियों ने घर में घुसते ही फायरिंग शुरू कर दी और लाठी डंडों से मारपीट की। वहीं घटना की जानकारी मिलने पर एसपी सिटी देवेंद्र पींचा ने क्षेत्र का मुआयना करते हुए गांव में भारी पुलिस बल की की तैनाती कराई है। साथ ही आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम का किया गठन किया गया है ।और पुलिस ने जल्द ही आरोपियों को पकडने का आश्वासन भी दिया है।

सितारगंज के कुँवरपुर सिसैया में तीन दिन पूर्व बेगुल नहर में मछली मारने को लेकर अनिल कुमार व उसके लड़के चन्नू व उवैश खान उर्फ जग्गू से इंद्रराम पुत्र कल्लू राम निवासी कुँवरपुर सिसैया का विवाद हो गया था। जिसके बाद घर वापिस आते समय उवैश खान उर्फ जग्गू के पिता असफाक से रास्ते पर मिलने पर कहासुनी हो गयी थी।जिसपर अनिल कुमार व उसका लड़का चन्नू व उवैश खान उर्फ जग्गू तथा 20-25 अन्य लाठी डंडों व हथियारों से लैस होकर इन्द्रराम के घर जा धमके ओर इन्द्रराम के साथ जमकर मारपीट की तथा 10 राउंड अवैध हथियारों से फायरिग भी की जिसमे इन्द्रराम का भाई जो घर की छत पर कार्य कर रहा था की छाती में गोली लगने गंभीर घायल हो गया था। साथ ही प्रेमवती बब्लू, प्रेम स्वरूप ओर यशपाल के साथ भी मारपीट करने से चारो चोटिल हो गए थे।और उसके बाद गांव में दहशत फैलाते हुए फरार हो गए थे।जिसके बाद चंद्रपाल व एक महिला प्रेमावती समेत चारो घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सितारगंज में भर्ती कराया गया था जहाँ चिकित्सको ने चंद्रपाल की स्थिति गंभीर देखते हुए हल्द्वानी हायर सेंटर रेफर कर दिया था। वहीं बाकी चारों घायलों को उपचार के दौरान छुट्टी दे दी गयी थी।

 

Leave a Reply

ये भी पढ़ें