आम बजट का रोज़गार क्षेत्रों पर ज़ोर: मोदी

आम बजट पर अपनी राय रखते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि रोजगार के प्रमुख क्षेत्रों – एग्रीकल्चर, इंफास्ट्रक्चर, टेक्सटाइल और टेक्नोलॉजी पर इस बजट में बहुत जोर दिया गया है।

प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो

नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आम बजट पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को बधाई देते हुए कहा, “मैं इस दशक के पहले बजट के लिए, जिसमें विजन भी है, एक्शन भी है, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी और उनकी टीम को बहुत-बहुत बधाई देता हूं।“

उन्होंने बजट में किये गए रीफॉर्म्स का ज़िक्र करते हुए कहा कि वो अर्थव्यवस्था को गति देने, देश के प्रत्येक नागरिक को आर्थिक रूप से सशक्त करने और इस दशक में अर्थव्यवस्था की नींव को मजबूत करने का काम करेंगे।

आम बजट पर अपनी राय रखते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि रोजगार के प्रमुख क्षेत्रों – एग्रीकल्चर, इंफास्ट्रक्चर, टेक्सटाइल और टेक्नोलॉजी पर इस बजट में बहुत जोर दिया गया है।

प्रधान मंत्री कार्यालय से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया कि – “किसान की आय दोगुनी हो, इसके प्रयासों के साथ ही, 16 एक्शन प्वाइंट्स बनाए गए हैं जो ग्रामीण क्षेत्र में रोजगार को बढ़ाने का काम करेंगे। बजट में कृषि क्षेत्र के लिए इंटीग्रेटेड एप्रोच अपनाई गई है, जिससे परंपरागत तौर तरीकों के साथ ही हॉर्टिकल्चर, फिशरीज, एनीमल हस्बेंड्री में वैल्यू एडिशन बढेगा और इससे भी रोजगार बढ़ेगा। ब्लू इंकोनॉमी के अंतर्गत युवाओं को फिश प्रोसेसिंग और मार्केटिंग क्षेत्र में भी नए अवसर मिलेंगे।“

“टेक्निकल टेक्सटाइल के लिए नए मिशन की घोषणा हुई है। मैनमेड फाइबर को भारत में प्रोड्यूज करने के लिए उसके रॉ मटेरियल के ड्यूटी स्ट्रक्चर में रीफॉर्म किया गया है। इस रीफॉर्म की पिछले तीन दशकों से मांग हो रही थी।“

आयुष्मान भारत योजना का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इस योजना ने देश के हेल्थ सेक्टर को नया विस्तार दिया है। “इस सेक्टर में ह्यूमन रीसोर्स- डॉक्टर, नर्स, अटेनडेंट के साथ ही मेडिकल डिवाइस मैन्यूफैक्चरिंग का बहुत स्कोप बना है” – उन्होंने कहा।

“टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में इम्प्लॉयमेंट जनरेशन को बढ़ावा देने के लिए इस बजट में हमने कई विशेष प्रयास किए हैं। नए स्मार्ट सिटीज, इलेक्ट्रॉनिक मैन्यूफैक्चरिंग, डेटा सेंटर पार्क्स, बायो टेक्नोलॉजी और क्वांटम टेक्नोलॉजी, जैसे क्षेत्रों के लिए अनेक पॉलिसी इनिशिएटिव्स लिए गए हैं। इसके द्वारा भारत, ग्लोबल वैल्यू चेन का एक अभिन्न अंग बनने की तरफ मजबूती से आगे बढ़ेगा।“

“बजट में युवाओं के स्किल डवलपमेंट को लेकर भी नए और इनोवेटिव इनिशिएटिव्स का ऐलान किया गया है। जैसे, डिग्री कोर्सेस में अप्रेन्टिसशिप, लोकल बॉडीज में इंटर्नशिप और ऑनलाइन डिग्री कोर्सेस की व्यवस्था। भारत से जो युवा नौकरी के लिए विदेश जाना चाहते हैं, उनके लिए ब्रिज कोर्सेस की व्यवस्था भी की जा रही है।“

Leave a Reply

ये भी पढ़ें