चीन सीमा से जोड़ने वाला वैली ब्रिज टूटा; दो दर्जन से अधिक गाँवों से टूटा संपर्क

इस पुल के टूटने से चीन सीमा से संपर्क टूट गया है। सीमा पर तैनात भारतीय सेना और आईटीबीपी की दिक्कतें बढ़ गई हैं।

 

पिथौरागढ़: उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में आज सोमवार को चीन सीमा को जोड़ने वाले मुनस्यारी-मिलम सड़क पर वैली ब्रिज टूट गया। भारत-चीन सीमा पर एलएसी (लाइन ऑफ़ एक्चुअल कण्ट्रोल – LAC) से 65 किमी दूर स्थित यह ब्रिज उस समय टूट गया जब पुल से पोकलैंड मशीन लदा ट्राला गुजर रहा था। ट्राले में लदी पोकलैंड मशीन नदी में समा गई।

इस पुल के टूटने से चीन सीमा से संपर्क टूट गया है। सीमा पर तैनात भारतीय सेना और आईटीबीपी की दिक्कतें बढ़ गई हैं। इसी रास्ते से भारतीय जवानों को रसद और खाद्य सामग्री पहुंचा जाती है।

सूत्रों के मुताबिक़ ट्राला बीआरओ (सीमा सड़क संगठन) द्वारा बनाई जा रही सड़क के लिए खनिज लेकर एलएसी के समीप लिलाम वैली की ओर जा रहा था। इस घटना में ट्राला चालक व पोकलैंड ऑपरेटर गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों का सीएचसी मुनस्यारी में उपचार चल रहा है।

ट्राला वाहन संख्या यूके 04 सीबी 5138 के पुल से चढ़ते ही पुल सेनर गाड़ में समा गया। हादसे की सूचना पर स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे। उन्होंने ट्राला चालक गोवर्धन सिंह निवासी लमगड़ा अल्मोड़ा और पोकलैंड ऑपरेटर लखविन्दर सिंह निवासी पंजाब को अस्पताल पहुंचाया। चिकित्सकों का कहना है कि दोनों घायलों के स्वास्थ्य में सुधार है।

सेनरगाड़ में पुल टूटने से सीमांत के दो दर्जन से अधिक माइग्रेशन गांवों का मुनस्यारी मुख्यालय से संपर्क टूट गया है। पुल के टूटने से धापा, क्वीरीजिमिया, साईपोलो, लीलम, बुईपातों सहित मल्ला जोहार के मिलम, विल्जू, बूर्फू टोला पांछू, लास्पा, गनघर, खिलाच रिलकोट गांव का संपर्क टूट गया है।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें