Home टॉप कोरोना से जंग । भारत ने रचा इतिहास, 200 करोड़ वैक्सीनेशन का आंकड़ा पार

कोरोना से जंग । भारत ने रचा इतिहास, 200 करोड़ वैक्सीनेशन का आंकड़ा पार

भारत में कोरोना वैक्सीनेशन का आंकड़ा दो अरब के पार पहुंच गया है।

कोरोना से जंग में भारत ने रचा इतिहास 200 करोड़ वैक्सीनेशन का आंकड़ा पार

नई दिल्ली । कोरोना वैक्सीनेशन में एक और परचम लहराते हुए भारत ने दो अरब यानी दो सौ करोड़ का आकंड़ा पार कर दिया है। वैक्सीनेशन को लेकर भारत में रविवार 17 जुलाई को नया कीर्तिमान रच गया। देश अब दो अरब से अधिक कोरोना टीका के डोज देने वाला दुनिया में दूसरा देश बन गया।

एक समय पढाई से भागती थीं दूर… आज हैं लाखों के लिए मिसाल | मिलिए मशरूम लेडी दिव्या रावत से

इसकी जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने दी है। दरअसल, भारत में कोरोना वैक्सीनेशन का आंकड़ा दो अरब के पार पहुंच गया है। दोपहर 12 बजे के आसपास भारत ने 200 करोड़ से अधिक खुराक में वैक्सीनेशन के आंकड़े को पार कर लिया। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा कि यह हमारे लिए गर्व की बात है। मैं सभी हेल्थ वर्कर्स और नागरिकों को इस उपलब्धि के लिए बधाई देता हूं।

कोविन पोर्टल पर रविवार दोपहर साढ़े 12 बजे तक कुल 2,00,00,15,631 लोगों को टीकाकरण हो चुका था। इनमें 1,01,90,73,891 लोग पहली खुराक पाने वाले, 92,59,26,880 दूसरी डोज पाने वाले और 5,50,14,860 ऐहतियाती खुराक लगवाने वाले शामिल हैं। मौजूदा समय में 14,883 साइट्स पर टीकाकरण चल रहा है, जिनमें 14,166 सरकारी केंद्र हैं, जबकि 717 प्राइवेट सेंटर हैं।

उत्तराखंड | मातृ शक्ति को और भी बल देगी ‘गौरा शक्ति ऐप’

देश में वैक्सीनेशन की शुरुआत 16 जनवरी 2021 को हुई थी। पहले 100 करोड़ टीकाकरण का लक्ष्य देश ने 21 अक्टूबर 2021 को हासिल किया था। ठीक नौ महीने बाद टीकाकरण का आंकड़ा 200 करोड़ के करीब पहुंच गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश में 1.02 अरब आबादी ऐसी है, जिसे टीके की कम से कम एक खुराक लग चुकी है। सरकार ने 2021 के अंत तक दो अरब वैक्सीन डोज लगाने का लक्ष्य रखा था। लक्ष्य सात महीने बाद हासिल हुआ है।

फिलहाल भारत में इन दिनों कोरोना का बूस्टर डोज लगाने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। 15 जुलाई से शुरू हुआ यह अभियान 75 दिन तक चलेगा। बूस्टर डोज सरकारी टीकाकरण केंद्रों पर मुफ्त लगाया जा रहा है। पहले बूस्टर डोज के लिए पैसे देने पड़ते थे, जिसके चलते लोग इसे बहुत कम लगवा रहे थे। 15 जुलाई तक 18 साल से 59 साल के एक फीसदी से भी कम लोगों ने बूस्टर डोज लगवाया था। इसके चलते केंद्र सरकार ने 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को बूस्टर डोज मुफ्त लगाने का फैसला किया।

You may also like