Home टॉप 59 कैमरों से गणतंत्र परेड का लाइव टेलीकास्ट करेगा : दूरदर्शन

59 कैमरों से गणतंत्र परेड का लाइव टेलीकास्ट करेगा : दूरदर्शन

नई दिल्ली|  दूरदर्शन 59 कैमरों की मदद से गणतंत्र दिवस परेड की हर गतिविधि का सीधा प्रसारण करेगा। आईएएफ के 75 विमानों के विशाल बेड़े के विभिन्न करतबों के सीधे प्रसारण के साथ-साथ फ्लाई-पास्ट के नए पहलुओं को को दिखाने की भी विशेष व्यवस्था की गई है। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि दूरदर्शन ने गणतंत्र दिवस समारोह के सीधे प्रसारण के लिए नेशनल स्टेडियम के गुंबद, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक और इंडिया गेट और राष्ट्रपति भवन के बीच कई अन्य महत्वपूर्ण जगहों पर कैमरे लगाए हैं। इनमें कहा गया है कि लोगों को इस पूरे समारोह के विहंगम दृश्य दिखाने के लिए, दो ‘360 डिग्री कैमरे’ लगाए गए हैं।

इनमें से एक कैमरा राजपथ पर लगा है और दूसरा इंडिया गेट के शीर्ष पर। बयान में कहा गया है कि दोनों 360 डिग्री कैमरों के दृश्य डीडी नेशनल यूट्यूब चैनल पर दो अलग-अलग स्ट्रीम के माध्यम से लगातार ‘लाइव-स्ट्रीम’ किए जायेंगे। गणतंत्र दिवस समारोह का सीधा प्रसारण देशभर में दूरदर्शन के सभी चैनलों पर 26 जनवरी को सुबह 9:15 बजे से शुरू होकर राजपथ पर होने वाले कार्यक्रमों के अंत तक किया जाएगा। यह सीधा प्रसारण डीडी नेशनल, डीडी न्यूज यूट्यूब चैनलों और न्‍यूज ऑन एआईआर ऐप और वेबसाइट पर भी उपलब्ध होगा। मंत्रालय ने कहा कि समावेशी कवरेज सुनिश्चित करने के उद्देश्य से, डीडी न्यूज आखों देखा हाल (कमेंट्री) को सांकेतिक में भी प्रसारित करेगा।

मंत्रालय ने कहा, ‘‘अब जबकि भारत अपनी आजादी के 75वें वर्ष के उत्सव के रूप में ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ मना रहा है, दूरदर्शन द्वारा इस साल के गणतंत्र दिवस का प्रसारण न केवल बड़े पैमाने पर होगा, बल्कि अनूठी विशेषताओं से लैस भी होगा।

भारत की आजादी के 75वें वर्ष के उपलक्ष्य में भारतीय वायुसेना 75 विमानों के विशाल बेड़े के विभिन्न करतबों के सीधे प्रसारण के साथ-साथ फ्लाई-पास्ट के नए पहलुओं को प्रदर्शित करने के लिए भी विशेष व्यवस्थाएं की गई हैं।’’ उसने कहा कि इस साल गणतंत्र दिवस समारोह की कवरेज के लिए 160 से अधिक कर्मियों को तैनात किया गया है, दूरदर्शन ने राजपथ पर 59 कैमरे लगाए हैं।

मंत्रालय ने कहा कि राजपथ पर 33 कैमरे, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक, इंडिया गेट, नेशनल स्टेडियम में 16 कैमरे और राष्ट्रपति भवन में 10 कैमरे लगाए गए हैं। मंत्रालय ने कहा कि सभी प्रमुख स्थानों को ‘डार्क फाइबर ऑप्टिकल कनेक्टिविटी’, ‘सेटेलाइट कनेक्टिविटी’ और ‘बैकपैक कनेक्टिविटी’ के माध्यम से जोड़कर इस पूरी कवरेज को एकीकृत किया गया है। मंत्रालय ने कहा कि गणतंत्र दिवस समारोह के आयोजन के सभी पहलुओं की सभी कोणों से त्रुटिरहित कवरेज सुनिश्चित करने के उद्देश्य से नवंबर 2021 से ही तैयारियां शुरू हो गई थीं।

You may also like

Leave a Comment