आपदा से सीख | नो-नेटवर्क ज़ोन में प्रधानों को मिलेंगे सेटेलाइट फ़ोन

जिला प्रशासन ऐसे ग्रामीण क्षेत्रों में संपर्क सूत्र स्थापित करने के लिए सेटेलाइट फोन देने जा रहा है, जिन क्षेत्रों में मोबाइल टावर उपलब्ध नहीं है।

 

पौड़ी: 2013 में आई आपदा से सीख लेते हुए अब जिला प्रशासन पौड़ी ने ऐसे क्षेत्रों का चयन किया है जो क्षेत्र नो-नेटवर्क जोन में आते हैं। इसी के मद्देनजर जिला प्रशासन ऐसे ग्रामीण क्षेत्रों में संपर्क सूत्र स्थापित करने के लिए सेटेलाइट फोन देने जा रहा है, जिन क्षेत्रों में मोबाइल टावर उपलब्ध नहीं है। मोबाइल टावर न होने के कारण वहां पर फ़ोन द्वारा संपर्क स्थापित नहीं किया जा सकता है।

इसी के तहत जिला प्रशासन ग्रामीण क्षेत्रों को चिन्हित कर कर इन क्षेत्रों में का संपर्क जिला मुख्यालय से जुड़ा रहेगा। अपर जिलाधिकारी एस०के० बर्नवाल ने बताया कि इन क्षेत्रों को चिन्हित किया जा रहा है जहां पर मोबाइल सिग्नल नहीं पकड़ते हैं और ऐसे संवेदनशील इलाकों में प्रधानों को सेटेलाइट फोन उपलब्ध कराए जा रहे हैं जिससे किसी भी प्रकार की सूचना जिला प्रशासन को प्रधान द्वारा तुरंत उपलब्ध कराई सके और किसी अनहोनी से बचा जा सके।

इन क्षेत्रों में आपदा के तहत या अन्य किसी वजह से कोई दिक्कतें आती हैं तो इन क्षेत्रों का संपर्क जिला मुख्यालय से जुड़ा रहेगा। उन्होंने बताया कि यह सेटेलाइट फोन निःशुल्क ही प्रधानों को उपलब्ध कराए जाएंगे। हालांकि इसके कॉल चार्ज का भुगतान प्रधान या जो उसका प्रयोग करता है उससे ही लिया जाएगा। मगर तय है कि आपदा के समय में नो-नेटवर्क जोन के लिए यह सेटेलाइट फोन किसी संजीवनी से कम नहीं होंगे।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें