Home उत्तराखंड टॉप UK ANM Recruitment 2022: स्वास्थ्य चयन बोर्ड की तैयारियां ज़ोरों पर

UK ANM Recruitment 2022: स्वास्थ्य चयन बोर्ड की तैयारियां ज़ोरों पर

ANM Recruitment

देहरादून/पौड़ी । प्रदेश में 824 महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता यानी ANM की भर्ती वर्तमान में चिकित्सा सेवा चयन बोर्ड के तत्वधान में लगातार जारी है। भर्ती पारदर्शिता व निष्पक्ष तरीके से हो, इसके लिए स्वास्थ्य चयन बोर्ड द्वारा सभी तैयारी पूरी की जा चुकी है। इसके साथ ही फॉर्म में की गई गलतियों को सुधारने का मौका भी आयोग द्वारा अभ्यर्थियों को 6 जुलाई तक दिया गया है। क्योंकि साक्षरता के लिए जब स्वास्थ्य चयन बोर्ड द्वारा वरिष्ठता के आधार पर सूची जारी की तो कुछ अभ्यार्थियों द्वारा गलत भरे गए फार्म में सुधार करने हेतु चयन आयोग में प्रार्थना पत्र दिया गया। स्वास्थ्य चयन बोर्ड ने भी माना कि 60% अभ्यार्थियों द्वारा अपना फार्म गलत भरा गया है। जिसके बाद स्वास्थ्य चयन बोर्ड द्वारा गलती की सुधार हेतु अभ्यर्थियों को 6 जुलाई तक फॉर्म में सुधार करने का मौका दिया गया है। May be an image of text

गलती करने वाले ही आयोग व पत्रकारों पर मंड रहे आरोप

आयोग ने साफ किया था कि 400 के करीब अभ्यार्थियों द्वारा आयोग में लिखित पत्र देकर कर पूर्व में की गई गलती को सुधार करने का मौका दिए जाने की बात कही गई थी। मगर अब जब आयोग द्वारा भर्ती में सुधार करने के लिए आखिरी मौका अभ्यार्थियों को दिया गया है तो अभ्यर्थियों द्वारा ही आयोग के फैसले पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं, कि आयोग ने अभ्यर्थियों को सुधार करने का मौका क्यों दिया।

इसके साथ ही कुछ ऐसा अभ्यार्थियों द्वारा पत्रकारों के ऊपर सवाल खड़े किए जा रहे है। जो महिला अभ्यार्थियों इस भर्ती प्रक्रिया की अहाते पूरी नहीं कर पा रही है।

एक समय पढाई से भागती थीं दूर… आज हैं लाखों के लिए मिसाल | मिलिए मशरूम लेडी दिव्या रावत से

विश्वसनीय सूत्रों की माने तो इस तरह के सवाल केवल ऐसे अभ्यर्थियों द्वारा उठाए जा रहे हैं जो वरिष्ठता के आधार पर चयनित नहीं हो पाए थे व उनके समकक्ष की कुछ महिला अभ्यार्थी मेरिट के आधार पर सूची में शामिल होने में कामयाब हुए थी। ऐसी ही कुछ महिला अभ्यार्थियों के द्वारा पत्रकारों को फोन में धमकी तक दी जा रही है। इस पूरे मामले में पत्रकार यूनियन भी संबंधित अभ्यार्थियों की व्हाट्सएप चैट व कॉल रिकॉर्डिंग जो कि इन अभ्यार्थियों द्वारा वायरल की जा रही है को पुलिस के समक्ष रखने जा रहे हैं।

सरकार की छवि को धूमिल करने की हो रही कोशिश

सूत्रों की माने तो यह पूरा षड्यंत्र केवल और केवल भर्ती को प्रभावित करने के लिए रचा जा रहा है। इसके साथ ही प्रदेश सरकार व माननीय स्वास्थ्य मंत्री की छवि को धूमिल करने का प्रयास कुछ तथाकथित लोगों द्वारा किया जा रहा है। जबकि भर्ती प्रक्रिया में साफ है कि वरिष्ठता के आधार पर नियुक्ति दी जानी है। इसके बावजूद कुछ अभ्यर्थियों द्वारा भ्रम फैलाकर अन्य अभ्यर्थियों को गुमराह करने का काम किया जा रहा है।

Career Studio | फिटनेस ट्रेनर की है अच्छी मांग

भर्ती की आयु सीमा की दहलीज पर पहुंची महिला अभ्यर्थियों को सताने लगा डर

ऐसे भ्रामक प्रचार के कारण अभ्यर्थियों के समक्ष भविष्य का खतरा मंडराने लगा है और उन्हें डर है कि कहीं कुछ तथाकथित अभ्यर्थियों के इस षड्यंत्र के बीच इस भर्ती प्रक्रिया में किसी तरह का कोई विघ्न उत्पन्न न हो जाए। क्योंकि बहुत सी ऐसी महिला अभ्यार्थी है जो आने वाले कुछ महीने में भर्ती की आयु सीमा को पार कर जाएंगी।

You may also like