अंतर्राज्यीय परिवहन चलाने के आदेश – पर कैसे होगा मुमकिन?

सरकार ने अंतर्राज्यीय परिवहन चलाने के लिए आदेश दे दिए हैं लेकिन परिवहन विभाग को सोशल दूरी बनाकर बसें चलाने की बात कही गई है।

 

देहरादून: उत्तराखंड में कोरोनावायरस के कारण 23 मार्च को लॉक डाउन किया गया था जिसके बाद सब कुछ बंद हो गया। लेकिन राज्य के वित्तीय हालात देखते हुए लॉक डाउन को धीरे-धीरे खोला जा रहा है। लगभग सब कुछ अनलॉक किया जा चुका है लेकिन राज्य में अब परिवहन विभाग को बसें चलाने में खासी दिक्कत आ रही है।

हालाँकि सरकार ने अंतर्राज्यीय परिवहन चलाने के लिए आदेश दे दिए हैं लेकिन परिवहन विभाग को सोशल दूरी बनाकर बसें चलाने की बात कही गई है। ऐसे में अगर परिवहन निगम बस चलाता हैै तो उसे घाटा होना लाजमी है। दूसरी तरफ सवारियां भी कम ही मिलेंगी क्योंकि अभी भी लोगो में करोना का डर है।

ऐसे में लोगो की समस्या बढ़ती जा रही है कि वे कैसे यात्रा करें। सूबे के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा है कि सार्वजनिक परिवहन खोला जा रहा है लेकिन परिवहन निगम को घाटा न हो और लोगों की समस्या का समाधान हो सके इसके लिए सोचा जा रहा है। अब देखना होगा कि कैसे राज्य में परिवहन व्यवस्था ठीक हो पाएगी।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें