हरिद्वार | हरिद्वार-लक्सर रेलवे मार्ग पर जमालपुर क्षेत्र में गुरुवार शाम उस समय अफरा-तफरी मच गई, जब तेज रफ्तार ट्रेन की चपेट में चार लोग आ गए, जिनमें से सभी की मौके पर ही मौत हो गई।

घटना ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र की है। बताया जा रहा है कि हरिद्वार में कुंभ के पहले हरिद्वार-लक्सर रेल लाईन के दोहरीकरण का कार्य चल रहा है। रेलवे लाइन दोहरीकरण का कार्य पूरा हो चुका है और इसके बाद रेलवे के अधिकारियों द्वारा इस ट्रैक पर ट्रायल किया जा रहा था कि तभी ट्रेन की चपेट में ट्रैक पार कर रहे चार लोग आ गए।

घनी आबादी वाले क्षेत्र में ट्रेन की रफ्तार इतनी ज्यादा थी कि लोगों को समझने का मौका तक नहीं मिला। घटना के बाद क्षेत्र में अफरा-तफरी मच गई। मौके पर जीआरपी, आरपीएफ, रेलवे के अधिकारी, स्थानीय पुलिस के अलावा स्थानीय विधायक भी पहुंच गए।

देश में बर्ड फ्लू के गहराते संकट के बीच केंद्र ने जारी की एडवाइजरी

स्थानीय विधायक स्वामी यतीश्वरानंद ने रेलवे अधिकारियों पर आरोप लगाया है कि यह नई रेल लाईन बनी थी… लिहाजा ट्रायल के पहले लोगों को सूचित करना चाहिए था और इसके लिए पूरी तरह से रेलवे जिम्मेदार है।

उधर मौके पर पहुंची ज्वालापुर पुलिस ने सभी शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस के अनुसार क्षत-विक्षत शवों के चलते शिनाख्त कर पाना फिलहाल मुश्किल है। घटना के बाद से क्षेत्र में कोहराम मचा हुआ है।

Leave a Reply