पौड़ी | पौड़ी में अपने गांव लौटे उत्तराखण्ड प्रवासियों को गांव में रहकर पर्यटन स्वरोजगार को अपनी आर्थिकी का जरिया बनने के लिये पर्यटन विभाग इन दिनों प्रवासियों को प्रेरित कर रहा है।

पर्यटन विभाग आनलाईन वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये प्रवासियों से सम्पर्क साध कर प्रवासियों से पर्यटन स्वरोजगार के फीडबैक लेकर ये जानने के प्रयास कर रहा है कि प्रवासी किस तरह के अवसर गांव में स्वरोजगार को लेकर तलाश रहे हैं।

इसके साथ ही साथ सरकार की ओर से चलायी जा रही वीर चंद्र सिंह गढवाली पर्यटन स्वरोजगार योजना व दीनदयाल होमस्टे जैसी योजनाओं की महत्वपूर्ण जानकारी भी प्रवासियों को पर्यटन अधिकारी ऑनलाइन संवाद के जरिये दे रहे हैं जिसके जरिये बेहतर आर्थिकी प्रवासी गांव में रहकर हासिल कर सके और शहर जाने का ख्याल भूल जायें।

पर्यटन विभाग का कहना है कि प्रवासियों को बैंक लोन में आ रही दिक्कतों का निपटारा भी कर लिया गया है। बैंक अधिकारियों को प्रवासियों की मदद को आगे आने के लिये जिलाधिकारी भी निर्देशित कर चुके हैं जिससे किसी तरह के स्वरोजगार में बैंक लोन अड़चन न बने और आसानी से पर्यटन स्वरोजगार शहरी क्षेत्रों की तरह गांव में भी परवान चढ सके।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें