Home टॉप भारत में कोरोना का आंकड़ा होगा चार करोड के पार मेडिकल संस्थाओं ने ओमीक्रोन से बचाव के लिए साझा किये ये उपाय

भारत में कोरोना का आंकड़ा होगा चार करोड के पार मेडिकल संस्थाओं ने ओमीक्रोन से बचाव के लिए साझा किये ये उपाय

नई दिल्ली | भारत में कोरोना के मामलों का आंकड़ा चार करोड़ को पार करने वाला है जबकि पांच लाख के करीब लोगों की मौत हो गई है। ओमीक्रोन वेरिएंट के बाद नए मामलों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। देश में नए दैनिक मामलों की संख्या दो लाख के करीब पहुंच गई है। ओमीक्रोन के लक्षण बेशक हल्के हैं लेकिन यह वायरस अधिक संक्रामक है और लोगों को आसानी से चपेट में ले रहा है।

सर्दी-बुखार से शुरू इसके हल्के लक्षण अब गंभीर होते जा रहे हैं और तेजी से बदल भी रहे हैं। चूंकि इसके लक्षण सर्दी-फ्लू से मिलते-जुलते हैं इसलिए लोग कंफ्यूज भी हो रहे हैं और इसके तेजी से फैलने का एक बड़ा कारण यही है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन से लेकर सीडीसी तक तमाम मेडिकल संस्थाओं द्वारा ओमीक्रोन से बचाव के लिए विभिन्न उपाय साझा किये जा रहे हैं। ध्यान रहे कि कोरोना वायरस का कोई स्थायी इलाज नहीं है इसलिए एक्सपर्ट्स मान रहे हैं कि कोरोना से बचाव के लिए दिशा-निर्देशों का पालन करते रहना जरूरी है।

आप खुद को और अपने परिवार को कोरोना वायरस के ओमीक्रोन वेरिएंट से कैसे बचा सकते हैं इसके लिए यूनिसेफ ने कुछ नियम साझा किये हैं। आपको किसी भी कीमत पर इन पर अमल करना चाहिए। बेशक ओमीक्रोन टीका लगवाने लोगों को भी संक्रमित कर रहा है लेकिन वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने माना है कि टीकाकरण से अस्पताल में भर्ती होने और मौत के जोखिम को कम किया जा सकता है।

टीके सुरक्षित और प्रभावी हैं। ओमीक्रोन वायरस किसी को भी नहीं छोड़ रहा है। यही वजह है कि मामले इतनी तेजी से बढ़ रहे हैं। अगर आप खुद को और अपने परिवार को इससे सुरक्षित रखना चाहते हैं, तो हाथों को बार-बार धोने की आदत को बिल्कुल न छोड़ें।

कोरोना वायरस ऐसी जगहों पर ज्यादा दिनों तक वास करता है जहां नमी होती है। यही वजह है कि तमाम एक्सपर्ट्स यह सलाह दे रहे हैं कि घर का कमरा हवादार हो ताकि नमी न बनी रहे। घर के अंदर वेंटिलेशन में सुधार के लिए खिड़कियां खोलें। इसके अलावा आपको भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचना चाहिए।

आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि कोरोना की तीसरी लहर की एक बड़ी वजह सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करना है। मत भूलें कि ओमीक्रोन बहुत तेजी से फैलने वाला वायरस है इसलिए इससे बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन करें।

You may also like

Leave a Comment