स्कूल चलें हम ज़िम्मेदारी से | शिक्षक पहुँच रहे कोरोना टेस्ट के लिए

कोरोना के कहर को गंभीरता से लेते हुए शिक्षक इन दिनों कोरोना टेस्ट सेंटर में पहुंच रहे हैं।

 

पौड़ी | उत्तराखंड में 2 नवम्बर से 10वीं से 12वीं कक्षाओं के स्कूल खुलने जा रहे हैं लेकिन इससे पहले ही अपनी सूझबूझ दिखाकर पौड़ी में कई सरकारी और गैर-सरकारी शिक्षक खुद का कोरोना टेस्ट करवाने लगे हैं जिससे छात्र छात्राओं में कोरोना का साया न पड़ सके।

सीएम रावत के खिलाफ होगी सीबीआई जांच, हाई कोर्ट ने दिया आदेश

आपको बता दें कि प्रदेश सरकार की एसओपी में स्कूल खुलने पर कोरोना टेस्ट की अनिवार्यता न तो छात्रों के लिए रखी गई है न ही शिक्षकों के लिए लेकिन फिर भी शिक्षक कोरोना टेस्ट को स्कूल खुलने से पहले जरुरी समझ रहे हैं। कोरोना के कहर को गंभीरता से लेते हुए शिक्षक इन दिनों अपना कोरोना टेस्ट करवाने के लिए कोरोना टेस्ट सेंटर में पहुंच रहे हैं या आधुनिक मशीनों से शिक्षकों का रेपिड एंटीजेन टेस्ट करवाया जा रहा है।

बंशीधर भगत पहुंचे हरिद्वार; सीएम के खिलाफ सीबीआई जांच पर दिया बयान

शिक्षकों की इस सूझबूझ को अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा गढ़वाल मंडल महावीर सिंह बिष्ट ने सराहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना टेस्ट की अनिवार्यता का सुझाव वे शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे की वर्चुअल मीटिंग में रख चुके थे। साथ ही उन्होंने ये भी सुझाव रखा था कि शिक्षक व छात्रों की थर्मल स्क्रीनिंग भी स्कूल पहुँचने पर की जाए। उन्होंने कहा कि इन सुझावों का एसओपी में यूँ तो ज़िक्र नहीं है लेकिन अब जब शिक्षक खुद का कोरोना टेस्ट करवा रहे हैं तो ये निश्चित रूप से एक सराहनीय पहल है।

महाकुंभ ’21 | कनखल स्थित विश्वप्रसिद्ध सतीकुण्ड में जलेगी अखंड ज्योत

अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा महावीर सिंह ने कहा की स्कूल खुलने पर सरकार द्वारा दिये गए निर्देशों का पालन बखूबी किया जाएगा और सोशल डिस्टेंसिंग रखकर ही स्कूल खोले जाएंगे।

Leave a Reply