गौरीकुण्ड

केदार घाटी मे भारी बारिश से जनजीवन ख़तरे में

रुद्रप्रयाग-गौरीकुंण्ड राज मार्ग बासंवाड़ा से सोन प्रयाग तक मार्ग क्षतिग्रस्त होने की ख़बरें हैं। प्रशासन व निर्माण विभाग स्थिति पर नजर बनाये है और सड़कों पर आये मलबे को हटाने की कोशिशें जारी हैं।

1977 के बाद बाबा केदार की डोली इस बार गई वाहन से

बाबा केदार की डोली आज रात्रि गौरीकुण्ड में विश्राम कर कल पैदल मार्ग से भीमबली पहुंचेगी। इसके बाद 28 अप्रैल को बाबा की डोली केदारनाथ पहुंचेगी और 29 अप्रैल प्रातः छह बजकर दस मिनट पर बाबा केदार के कपाट खोले जाएंगे।