शिपिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया में अपनी हिस्सेदारी बेच रही सरकार, ब्रिटिश कंपनी ने लगाई बोली

केंद्र सरकार शिपिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया में अपनी हिस्सेदारी बेचने की तैयारी में है।

नई दिल्ली । केंद्र सरकार शिपिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया में अपनी हिस्सेदारी बेचने की तैयारी में है। कंपनी में हिस्सेदारी खरीदने के लिए बोली लगाने वालों में ब्रिटेन की कंपनी शामिल है। जानकारी के मुताबिक शिपिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया में मोदी सरकार की पूरी हिस्सेदारी खरीदने को लेकर फोरसाइट ग्रुप सहित कई बोलीदाताओं ने शुरुआती बोलियां लगायी हैं। सूत्रों के अनुसार फोरसाइट ग्रुप ने बेल्जियम के एक्समार एनवी और दुबई के जीएमएस के साथ मिलकर बोली लगाई है। हालांकि, एस्सार ग्रुप और अडानी समूह ने शिपिंग कॉरपोरेशन के निजीकरण के लिए बोली नहीं लगाई है। उल्लेखनीय है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने शिपिंग कॉरपोरेशन और कंटेनर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लि. में रणनीतिक विनिवेश के लिये सैद्धांतिक मंजूरी दी थी। हालांकि, महामारी के कारण योजना को टाल दिया गया था। सरकार शिपिंग कॉरपोरेशन में प्रबंधन नियंत्रण सौंपने के साथ अपनी पूरी 63.75 प्रतिशत हिस्सेदारी बेच रही है। बोली जमा करने की अंतिम तिथि 13 फरवरी थी, इस बढ़ाकर एक मार्च कर दिया गया था।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें