सीनियर फिजिशियन का स्वस्थ्याग्रह, सीएमओ पर लगाए गंभीर आरोप

कोविड-19 अस्पताल के सीनियर फिजिशियन डॉक्टर एन एस बिष्ट अपने ही विभाग के अधिकारियों से खफ़ा है जिसके चलते एन एस बिष्ट गांधी नेत्र चिकित्सालय में स्वास्थ्याग्रह पर बैठे हैं।

 

देहरादून: राजकीय जिला कोरोनेशन अस्पताल में तैनात मुख्यमंत्री के वरिष्ठ फिजीशियन डॉo एनएस बिष्ट अपने ही विभाग के अधिकारियों से खफ़ा है जिसके चलते वो गांधी नेत्र चिकित्सालय में स्वास्थ्याग्रह पर बैठ गए।

दरअसल देहरादून के सीएमओ डॉ बीसी रमोला पर एन एस बिष्ट ने आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि देहरादून के सीएमओ ने अस्पताल के कई कर्मचारियों की ऐसीआर (एनुअल कॉन्फिडेंशियल रिपोर्ट) खराब कर दी है। साथ ही एनएस बिष्ट ने उन पर प्रताड़ित करने का भी आरोप लगाया है। एनएस बिष्ट ने कहा कि जब तक उनकी मांगों पर अमल नहीं किया जाएगा वह इस तरह के स्वास्थ्याग्रह करते रहेंगे।

हालांकि निदेशक डॉक्टर एसके गुप्ता के कहने के बाद एनएस बिष्ट ने अपना स्वास्थ्याग्रह समाप्त कर दिया है। आपको बता दें कि डाक्टर एनएस बिष्ट मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के चिकित्सक भी हैं।

वहीं एसके गुप्ता ने जानकारी देते हुए कहा कि विभाग द्वारा टीम का गठन किया गया है। जांच पूरी करने के बाद मामले पर प्रकाश डाला जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि यदि किसी भी मामले में देहरादून के सीएमओ पर कोई मामला आता है तो उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें