रुद्रपुर: महिला की हत्या का आरोपी गिरफ्तार

बरिंदर जीत सिंह, एसएसपी, ऊधमसिंहनगर

रुद्रपुर: ऊधमसिंहनगर के ट्रांज़िट कैम्प में 22 सितम्बर की रात को सी-ब्लॉक में मिठाई की दुकान के गोदाम में एक महिला का सड़ा-गला शव मिलने से हडकंप मच गया था। मृतका की पहचान प्रिया बाला पत्नी रमेश बाला के रूप में हुई थी। महिला की हत्या कर शव को बेड के अंदर छुपा कर आरोपी फरार हो गया था। हत्या के मामले में पुलिस ने भारत बांग्लादेश बॉर्डर से हत्या के मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है।

प्रिया बाला का शव बरामद होने पर आरोपी की धर पकड़ के लिए टीम गठित की गई थी। जांच के दौरान पुलिस को अहम सुराग हाथ लगे थे।  इसके बाद 5 अक्टूबर को भारत-बांग्लादेश बॉर्डर के पेट्रो मॉल से आरोपी ध्रुव दास को गिरफ्तार किया है। पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि वो मूलरुप से पश्चिम बंगाल का रहने वाला है और हाल ही में ट्रांज़िट कैम्प में मिठाई की दुकान चलाता था।

आरोपी के अनुसार प्रिया बाला उसके घर पर खाना बनाने के लिए आती थी। इस दौरान नजदीकियां बढ़ने पर उन का प्यार परवान चढ़ने लगा था। दोनों के बीच अवैध सम्बन्ध भी बताये गए। बात आगे बढ़ी तो दोनों ने भागने का फैसला भी कर लिया। भागने से पहले ध्रुव दास प्रिया बाला के पास पैसे इक्कठा करने लगा इस बात की जानकारी प्रिया बाला के पति रमेश बाला को लग गयी जिस कारण दोनों के बीच आये दिन झगड़ा होने लगा।

बाद में प्रिया ने आरोपी से मिलना और फोन करना बंद कर दिया। जिसके बाद आरोपी द्वारा पैसे मांगे गए तो प्रिया ने पैसे देने से साफ मना कर दिया और झूठा केस बना कर पुलिस में शिकायत करने की धमकी देने लगी। 12 सितम्बर को ध्रुव दास ने उसे मिलने के लिए अपने कमरे में बुलाया और आरोपी ने उसका गला दबाकर हत्या कर दी ओर मृतक महिला की लाश को बैड के नीचे छिपा कर पश्चिम बंगाल भाग गया।

22 सितम्बर की रात को पुलिस को घटना की जानकारी मिली 23 सितम्बर को मृतका के पति द्वारा मुकदमा दर्ज कराया गया जिसके बाद एसएसपी द्वारा टीम गठित कर हत्या के खुलासे के निर्देश दिए गये। जांच के दौरान पुलिस ने 23 सितम्बर से 5 अक्टूबर तक पश्चिम बंगाल में डेरा डाला था। 5 अक्टूबर की सुबह जब आरोपी ध्रुव दास भारत छोड़ बांग्लादेश में भागने की फिराक में था तभी पुलिस टीम द्वारा भारत और बांग्लादेश बॉडर पर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

सोमवार को एसएसपी बरिंदर जीत सिंह ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि घटना के खुलासे में टीम द्वारा बड़ी मेहनत की है। टीम दो सप्ताह से आरोपी की तलाश में पश्चिम बंगाल की ख़ाक छानती रही। इस दौरान पश्चिम बंगाल की पुलिस की मदद भी ली गयी। और आरोपी ध्रुव दास को गिरफ्तार कर रुद्रपुर लाया गया।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें