दीप जलाना – क्या है मनोचिकित्सक की राय?

देहरादून: प्रधानमंत्री मोदी ने सभी देशवासियों से 5 अप्रैल की शाम 9 बजे घर की लाइट बन्द करके मोमबत्ती और दीपक जलाने का आह्वाहन किया है। इस आह्वाहन का मनोवैज्ञानिक कारण क्या है, इस सम्बन्ध में दून मेडिकल कॉलेज की वरिष्ठ मनोचिकित्सक डॉ प्रतिभा शर्मा का कहना है कि मोदी जी ने जो आह्वाहन किया है उसका मकसद बिल्कुल साफ है। जब पूरा देश लाईट सेरेमनी मनाएगा तो उससे एक सन्देश जाएगा कि हमारा देश सभी जाति धर्म से ऊपर उठकर एक साथ है और जो लाइटिंग होगी उसका मकसद सकारात्मकता से है और उससे सभी के अन्दर एक पॉजिटिव थिंकिंग आएगी। जो लोग #होमक्वारंटाइन में है या जो लोग इस महामारी का शिकार हुए है उन्हें भी बल मिलेगा।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें