Home टॉप भाई पर जान कुर्बान कर सकती हूं – प्रियंका का योगी पर पलटवार

भाई पर जान कुर्बान कर सकती हूं – प्रियंका का योगी पर पलटवार

प्रियंका का योगी पर पलटवार

प्रियंका का योगी पर पलटवारनई दिल्ली । पिछले कई सालों से देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस में चली आ रही अंदरूनी कलह किसी से छुपी नहीं है। वो चाहे राजस्थान, मध्य प्रदेश की बात हो या फिर वर्तमान में पंजाब की बात हो, जहां विधानसभा चुनाव होना है। हालांकि पार्टी के कई नेता इस बात से इनकार करते रहते हैं। लेकिन बीजेपी मौका मिलने पर हमलावर रहती है।

इसी बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सीएम योगी के एक बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि बीजेपी में संघर्ष है, कांग्रेस में नहीं। प्रियंका गांधी वाड्रा ने रविवार को कहा कि मैं अपने भाई (राहुल गांधी) के लिए अपनी जान कुर्बान कर सकती हूं और वह भी मेरे लिए ऐसा कर सकता है। संघर्ष भाजपा में है, कांग्रेस में नहीं। योगी-मोदी और अमित शाह के बीच हितों का टकराव हो सकता है।

बता दें कि प्रियंका गांधी ने सीएम योगी आदित्यनाथ के एक बयान पर पलटवार किया है। दरअसल, हाल ही में उत्तराखंड की टिहरी में सीएम योगी ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा था कांग्रेस तो पूरे देश के अंदर डूब रही है। थोड़ा जहां वजूद था भी, वहां पर डुबोने के लिए दोनों भाई बहन पर्याप्त हैं, किसी तीसरे की जरूरत नही पड़ेगी। इसके अलावा उन्होंने जनता से कहा कि इसलिए क्यों उस डूबते हुए जहाज में बैठेंगे। डूबते हुए जहाज में नहीं बैठना चाहिए। उसको उसके हाल में छोड़ देना चाहिए। इसके अलावा सीएम योगी ने एक ट्वीट में लिखा था कि लिखा था कि भाई बहन के आपसी विवाद और वर्चस्व के कारण कांग्रेस डूब जाएगी।

कोटकपुरा में ‘नवी सोच नवा पंजाब’ चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने आम आदमी पार्टी पर हमला किया और दावा किया कि आप दक्षिणपंथी हिंदू संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से निकली है। कोटकपूरा से कांग्रेस उम्मीदवार अजयपाल सिंह संधू के लिए प्रचार करते हुए उन्होंने कहा, “पंजाब सरकार पंजाब से चलाई जानी चाहिए, दिल्ली से नहीं, जैसा कि आप या बीजेपी के सत्ता में आने पर किया जाएगा।”

प्रियंका गांधी वाड्रा ने इस बात पर भी जोर दिया कि कांग्रेस पार्टी के सीएम चन्नी “आप के बीच एक आम आदमी” हैं। उन्होंने कहा, ‘पंजाब में पिछले पांच साल से हमारी कांग्रेस की सरकार है। इस सरकार ने पंजाब से संचालित होना बंद कर दिया, इसके बजाय इसे दिल्ली से संचालित किया जा रहा था, कांग्रेस द्वारा नहीं बल्कि भाजपा द्वारा। यह छिपा हुआ गठबंधन अब सबके सामने आ गया है। चन्नी को मुख्यमंत्री बनाने के पीछे यही कारण है। पूर्व कांग्रेसी अमरिंदर सिंह ने सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद पंजाब लोक कांग्रेस नाम से अपनी पार्टी शुरू की।

पंजाब में पीएलसी और बीजेपी गठबंधन के साथ चुनाव लड़ रही है। गौरतलब है कि पंजाब में 20 फरवरी को मतदान होगा। वोटों की गिनती 10 मार्च को होगी।

You may also like

Leave a Comment