1947 August 16 First Look | राजधानी में हुआ पोस्टर लॉन्च

निर्देशक एनएस पोन कुमार द्वारा निर्देशित फिल्म एक पावर पैक अवधि की गाथा है।

राजधानी में हुआ फिल्म '1947 अगस्त 16’ का पोस्टर लॉन्च

देहरादून । प्रसिद्ध ‘‘गजनी’’ निर्देशक एआर मुरुगादॉस (AR Murugadoss) ने देहरादून स्थित निर्माता और पर्पल बुल एंटरटेनमेंट (Purple Bull Entertainment) के संस्थापक ओम प्रकाश भट्ट के साथ कई रोमांचक फिल्मों का निर्माण करने के लिए सहयोग किया है।

उनका पहला प्रोजेक्ट, जिसका शीर्षक 1947 अगस्त 16 का पोस्टर आज लॉन्च हुआ। मुरुगादॉस के लंबे समय तक रहे सहयोगी निर्देशक एनएस पोनकुमार द्वारा निर्देशित यह फिल्म एक पावर पैक अवधि की गाथा है।

EXCLUSIVE | उत्तराखंड के प्रसिद्ध गायक हैरी धनोआ से खास बातचीत

इस अवसर पर बताया गया कि नवोदित रेवती के साथ गौतम कार्तिक अभिनीत फिल्म 1947 अगस्त 16 एक सुदूर गाँव की कहानी है जहां एक बहादुर व्यक्ति भारतीय स्वतंत्रता के दौरान ब्रिटिश सेना से लड़ता है। तमिलनाडु के प्राचीन और सुरम्य आंतरिक इलाकों में फिल्माई गई। यह फिल्म वर्तमान में पोस्ट-प्रोडक्शन चरण में है।

इस अवसर पर पर्पल बुल एंटरटेनमेंट के निर्माता ओम प्रकाश भट्ट कहते हैं कि तारकीय स्क्रिप्ट और लुभावने प्रदर्शन की बात करी जाए तो तमिल फिल्म उद्योग हमेशा से अग्रणी रहा है। उन्होंने कहा कि हम इस अद्भुत उद्योग का हिस्सा बनकर खुश हैं, और वह भी 1947 अगस्त 16 जैसी विशेष फिल्म के साथ है। इस अवसर पर निर्माता एआर मुरुगादॉस कहते हैं कि 1947 अगस्त 16 एक महत्वाकांक्षी और ईमानदार कहानी है।

उन्होंने कहा कि यह एक महत्वपूर्ण और दिल को छू लेने वाली कृति है जिसे लोगों द्वारा बताने और सुनने की मांग की गई है। इसे देखने के बाद यह फिल्म सभी के दिलों मे हमेशा रहेगी। उन्होंने कहा कि तमिल और तेलुगु उद्योग के कुलीन सुपरस्टारों को निर्देशित करने से लेकर बॉलीवुड ब्लॉकबस्टर में आमिर खान और अक्षय कुमार के साथ काम करने तकय एआर मुरुगादॉस एक ऐसा नाम है जो सिनेमाई उत्कृष्टता और व्यापक अखिल भारतीय सफलता का प्रतीक है।

निर्देशक एन.एस. पोनकुमार कहते हैं कि यह फिल्म एक स्वतंत्रता संग्राम की कहानी नहीं है, बल्कि आजादी क्या है को समझने वाले निर्दोष ग्रामीणों का एक समूह है। इसकी कहानी में एक नायक है जो हमेशा आक्रामक और उग्र होता है, एक सुलझे दिल वाली नायिका, कुछ ऐसे लोग हैं जो अपनी समस्याओं के बारे में व्यंग्यात्मक रूप से हसीं उड़ाते हैं, और एक बूढ़ा बुजुर्ग जोड़ा है। इन पात्रों के इर्द-गिर्द घूमती इस फिल्म की कहानी भावनात्मक सार और एक मनोरंजक पटकथा के साथ सुनाई और दर्शायी जाएगी। ओम प्रकाश भट्ट को इससे पहले अपनी मराठी फिल्म श्ये रे ये रे पैसा और टकाटक की सफलता से प्रसिद्धि मिली है। वह क्राइम पेट्रोल और मिलन टॉकीज जैसी फिल्मों और शोज के लिए जाने जाते हैं। इस अवसर पर बताया गया कि यह फिल्म जल्द ही सिनेमाघरों में रिलीज होगी।