Home उत्तरकाशी कांग्रेस को क्षमा नहीं करेगी जनता- राजनाथ सिंह

कांग्रेस को क्षमा नहीं करेगी जनता- राजनाथ सिंह

 

उत्तरकाशी| रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पंजाब में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक को लेकर कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री देश का होता है, किसी पार्टी विशेष का नहीं। सवाल किया कि ‘क्या इसकी कल्पना की जा सकती है कि प्रधानमंत्री कहीं जाएं और उनकी सुरक्षा में चूक हो जाए।’ पंजाब में ऐसा हुआ है और इसके लिए जनता कांग्रेस को क्षमा नहीं करेगी। देश की सुरक्षा को लेकर उन्होंने कहा कि भारत अब कमजोर नहीं है। हम दुश्मन को इस पार भी मार सकते हैं और उस पार भी।

गढ़वाल मंडल में आयोजित भाजपा की विजय संकल्प यात्रा के समापन अवसर पर उत्तरकाशी में जनसभा को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि ‘मैं भी मुख्यमंत्री रहा हूं, लेकिन ऐसी घिनौनी राजनीति उन्होंने कभी नहीं की। ‘ पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस के नेता कहते हैं कि केदारनाथ में गुफा उनकी सरकार ने बनवाई है। उसी गुफा में प्रधानमंत्री ने साधना की। उन्होंने जनता से सवाल पूछा कि अगर केदारनाथ में गुफा कांग्रेस सरकार ने बनाई है तो साधना के लिए इस दल के नेताओं ने गुफा में बैठने की हिम्मत क्यों नहीं जुटाई।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि आने वाला दशक उत्तराखंड का होगा। सरकार ने तय किया है कि 2025 में जब राज्य गठन की रजत जयंती वर्ष बना रहे होंगे तब यह प्रदेश देश का नंबर एक राज्य होगा। इसके लिए सभी अनुभवी व्यक्तियों के विचार लेकर रोड मैप तैयार किया जा रहा है। कार्यक्रम में केंद्रीय रक्षा राज्यमंत्री अजय भट्ट, सांसद माला राज्ये लक्ष्मी शाह, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, विजय संकल्प यात्रा के संयोजक ज्योति प्रसाद गैरोला, यमुनोत्री विधायक केदार सिंह रावत, भाजपा जिलाध्यक्ष रमेश चौहान और महासचिव हरीश डंगवाल आदि मौजूद थे।

हम दस सीएम बदलें, हमारी पार्टी का मसला-

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस आरोप लगा रही है कि पांच साल में तीन मुख्यमंत्री बदले हैं, कहा कि ‘मैं कांग्रेस के मित्रों को कहना चाहता हूं कि यह हमारी पार्टी का मसला है, हम दस मुख्यमंत्री बदलें। 2017 में हम किसी के चेहरे को लेकर चुनाव में नहीं गए थे। भाजपा ने चुनाव लड़ा था। यदि किसी मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर चुनाव लड़ते तो पांच साल तक केवल एक ही मुख्यमंत्री रहता, लेकिन, भाजपा तीनों मुख्यमंत्रियों ने बेहतर काम किया है।

You may also like

Leave a Comment