नई दिल्ली । राजधानी दिल्ली की तिहाड़ जेल सहित 16 जेल में कैदियों की गतिविधियों को कैद करने के लिए सात हजार सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इनमें जेल नंबर तीन की वह बैरक भी शामिल है जिसमें गैंगस्टर अंकित गुर्जर की मौत हुई थी और उसके तीन गवाह की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अदालत ने सीसीटीवी कैमरे लगाने का आदेश दिया था। इस संबंध में तिहाड़ जेल के डीजी संदीप गोयल का कहना है कि जेल में कैदियों की गतिविधियों की मॉनिटरिँग चल रही है। जानकारी के मुताबिक जेल नंबर तीन में आए दिन कैदियों के बीच हिंसा और अंकित गुर्जर की मौत से सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने का काम लोक निर्माण विभाग ने  शुरू किया था।

बताया गया कि जेल नंबर एक तथा दो में 630 तथा 608 सीसीटीवी लगाए गए हैं जबकि जेल नंबर तीन में अब तक 757 कैमरे लग चुके हैं। तिहाड़ की नौ जेल में से सबसे अधिक कैमरे जेल आठ व नौ में लगाए गए हैं यह दोनों जेल एक ही परिसर में हैं यहां 973 सीसीटीवी हैं। जेल नंबर दस रोहिणी जेल में 504 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं यहां भी बाहरी दिल्ली के कई गैंगस्टर बंद हैं। जेल प्रशासन ने बताया कि मंडोली जेल नंबर 11 से लेकर 16 में कुल 1869 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इस तरह तिहाड़, रोहिणी और मंडोली की 16 जेलों में 7069 सीसीटीवी लगाए गए हैं।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें