Home अर्थ-जगत 5G सेवा के लिए मोबाइल फोन को 4G से 5G में करना होगा अपग्रेड

5G सेवा के लिए मोबाइल फोन को 4G से 5G में करना होगा अपग्रेड

5G सेवा के लिए मोबाइल फोन को 4G से 5G में करना होगा अपग्रेड

नई दिल्ली । देश में 5जी सेवाएं लांच हो गई हैं। देश के 13 शहरों में यूजर्स को 5जी सिग्नल मिलने लगे हैं। अगले कुछ दिनों में देशभर में 5जी सेवा उपलब्ध होगी, लेकिन इसका फायदा उठाने के लिए यूजर्स को उनका 4जी फोन, 5जी में अपग्रेड करना होगा। बिना 5जी स्मार्टफोन के 5जी सेवाओं का इस्तेमाल नहीं किया जा सकेगा।

टेलिकॉम ऑपरेटर्स की ओर से 5जी प्लान्स की जानकारी जल्द शेयर की जाएगी, लेकिन उससे पहले आपको नया फोन खरीदना होगा। अगर आप 5जी कंपैटिबल स्मार्टफोन खरीदना चाहते हैं तो कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है। 5जी फोन चुनते वक्त कुछ की-फैक्टर्स का ध्यान रखा जाए तो आपको बेस्ट 5जी परफॉर्मेंस अपने डिवाइस में मिलेगी।

स्मार्टफोन में 5जी कनेक्टिविटी के लिए 5जी चिपसेट का होना जरूरी है। ऐसे 5जी चिपसेट में 5जी रिसेप्शन के लिए बिल्ट-इन मॉड्यूल मिलता है। नए 5जी इनेबल्ड चिपसेट्स अब मिडरेंज और फ्लैगशिप सेगमेंट्स दोनों में आ रहे हैं। क्वालकॉम के स्नैपड्रैगन 695 और इसके बाद, स्नैपड्रैगन 765जी और इसके बाद के अलावा स्नैपड्रैगन 865 और इसके बाद वाले सभी चिपसेट्स में 5जी सपोर्ट मिलता है। वहीं, मीडियाटेक पावर्ड फोन्स की बात करें लो-एंड फोन्स के डायमेंसिटी 700 से लेकर हाई-एंड डायमेंसिटी 8100 और डायमेंसिटी 9000 प्रोसेसर्स में 5जी सपोर्ट मिलता है। पुराने जी-सीरीज और हीलियो-सीरीज के चिपसेट 5जी टेक्नोलॉजी को सपोर्ट नहीं करते हैं।

फोन का चिपसेट तय करता है कि इसमें 5जी कनेक्टिविटी मिलेगी या नहीं, लेकिन सपोर्टेड बैंड्स नहीं होने की स्थिति में 5जी फोन्स भी नेक्स्ट-जेनरेशन कनेक्शन का पूरा फायदा नहीं देंगे। कई 5जी स्मार्टफोन्स केवल एक या दो 5जी बैंड्स को सपोर्ट करते हैं, इन्हें खरीदने में समझदारी नहीं है। ज्यादा 5जी बैंड्स को सपोर्ट करने वाले डिवाइस खरीदना बेहतर होगा। खरीदने से पहले चेक करें कि फोन किन 5जी बैंड्स को सपोर्ट करता है। ये बैंड्स डिवाइस के प्रोडक्ट पेज पर या वेबसाइट पर स्पेसिफिकेशंस सेक्शन में दिख जाएंगे। अच्छे 5जी कनेक्शन के लिए फोन में 8 से 12 के बीच 5जी बैंड्स होने चाहिए, जिससे सभी नेटवर्क्स पर 5जी सेवाएं मिलें।

कई स्मार्टफोन्स 5जी टेक्नोलॉजी को सपोर्ट तो करते हैं लेकिन स्टैंडअलोन (एसए) नेटवर्क्स के लिए उनके सॉफ्टवेयर में कुछ सीमाएं हो सकती हैं। ऐसे स्मार्टफोन्स में ब्रैंड्स की ओर से अगले कुछ सप्ताह में ओवर द एयर (ओटीए) अपडेट्स देकर तय किया जाएगा कि यूजर्स को बिना किसी परेशानी के 5जी सेवाएं मिल सकें। फोन खरीदने से पहले तय करें कि उसे लंबे वक्त तक सॉफ्टवेयर अपडेट्स मिलते रहेंगे। सॉफ्टवेयर अपडेट्स तय करेंगे कि आपको लंबे समय तक न सिर्फ नए फीचर्स मिलते रहें, बल्कि डिवाइस में मौजूद नेटवर्क कनेक्टिविटी बग्स या फिर खामियों को फिक्स कर दिया जाएगा।

You may also like