उत्तराखंड का ये गाँव जूझ रहा कैंसर से पिछले पांच सालों से

एक ऐसा गांव जिसमें एक नहीं दो नहीं बल्कि पूरे पांच सालों से ग्रामीण कैंसर जैसी बीमारी से जूझ रहे है। इस गांव का नाम है कुंज बहादुरपुर।

ख़ास बात:

  • गांव में फैल रही है कैंसर की बीमारी
  • गांव के लोगों को पीना पड़ रहा है गंदा पानी
  • कैंसर से हो चुकी हैं कई मौंतें
  • 3 साल के बच्चों से लेकर 80 साल तक के बुज़ुर्ग कैंसर की चपेट में

भगवानपुर: जहां एक ओर पूरा देश कोरोना जैसी महामारी से जूझ रहा है। वहीं उत्तराखंड के भगवानपुर के एक गांव को कैंसर से भी लड़ना पड़ रहा है। जी हां आज हम आपको दिखा रहे हैं एक ऐसा गांव जिसमें एक नहीं दो नहीं बल्कि पूरे पांच सालों से ग्रामीण कैंसर जैसी बीमारी से जूझ रहे है। इस गांव का नाम है कुंज बहादुरपुर। ये कुंज बहादुरपुर गांव वही गाँव है जिस में शहीद राजा विजय सिंह ने जन्म लिया तथा आजादी की लड़ाई की शुरुआत की थी। लेकिन पता नहीं आज इस गांव को किसकी नजर लग गई और वीरों के इस गांव में बीमारी अपने पैर पसार रही है।

कुंज नाम के इस गांव में लगभग पांच सालों से कैंसर फैला हुआ और 3 साल के बच्चों से लेकर 80 साल बुज़ुर्गों तक को अपनी चपेट में ले रहा है जिसमें लगभग एक दर्जन लोग इस बीमारी से जूझ रहे हैं और कई मौतें हो चुकी हैं। गांव के प्रधान की माने तो गांव में पीने का पानी दूषित हैं, जिस वजह से लोगों को ये बीमारी हो की रही है।

इस मामले को लेकर पूर्व प्रधान तीरथ सिंह ने जागरूकता दिखाते हुए भगवानपुर विधायक की मदद से सीएमओ तथा डॉक्टर्स कि टीम को बुलवा कर गांव के पानी का निरीक्षण कराया है।

गांव के ही क्षेत्र पंचायत सदस्य अनिल कुमार ने बताया कि इस बीमारी का मुख्य कारण टंकी का पानी ही है। गांव की समस्या को जानने के बाद भी गांव की परेशानी का अब तक कोई हल नहीं निकला है और गांव के लोगों को गंदा और दूषित पानी ही पीना पड़ रहा है। अब देखने वाली बात ये होगी कि प्रशासन गांव वालों की इस गंभीर समस्या को कितनी गंभीरता से लेता है।

 

 

 

Leave a Reply

ये भी पढ़ें