पट्टे की आड़ में खनन माफिया राजाजी नेशनल पार्क का भी कर रहे खनन

भारत सरकार के आदेश को ताक पर रख कर खनन माफियाओं ने राजाजी नेशनल पार्क की ज़मीन तक से खनन कर डाला और सरकार को करोड़ों रुपये की चपत लगा दी है।

 

भगवानपुर: कोरोना के दौर में भगवानपुर के खनन माफिया चाँदी काटते नजर आ रहे हैं। मामला भगवानपुर तहसील के बुगावाला की मोहंड रौ नदी का है। इस नदी के पट्टे की आड़ लेकर खनन माफिया अवैध खनन करने से परहेज नहीं कर रहे है।

आपको बता दें कि गढ़वाल मंडल विकास निगम खनन का पट्टा जय भवानी स्टोन क्रेशर के नाम है। लेकिन पट्टा धारक ने स्थानीय निवासी राम सिंह की संक्रमणीय भूमिधर भूमि को भी खोद डाला गया। इसकी शिकायत पीड़ित ग्रामीण ने उपजिलाधिकारी भगवानपुर को दी जिसके चलते अधिकारियों ने मौके पर पहुँच कर सिर्फ और सिर्फ लीपा पोती का काम किया है।

पट्टे की आड़ में खनन माफिया राजाजी नेशनल पार्क का भी कर रहे खनन

अगर बात भारत सरकार के जीओ की की जाये तो उसमें साफ तौर पर लिखा है कि राजा जी नेशनल पार्क की ओर से उत्तर पूर्व दिशा से 2 किलोमीटर छोड़ कर खनन करना है लेकिन भारत सरकार के आदेश को ताक पर रख कर खनन माफियाओं ने राजाजी नेशनल पार्क की ज़मीन तक से खनन कर डाला और सरकार को करोड़ों रुपये की चपत लगा दी है। खनन विभाग भी कोई ठोस कार्यवाही करने से उरेज़ करता नजर आ रहा है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस सब में देहरादून में बैठे किसी सफेद पोश नेता का हाथ भी बताया जा रहा है। सूत्रों का कहना है कि पट्टा धारक को संरक्षण मिल रहा है। रात के समय मे भी क्षेत्र में बड़े पैमाने पर कुछ स्टोन क्रेशर द्वारा अवैध खनन हो रहा है। लगातार पुलिस को सूचना देने के बाद भी मौके पर पुलिस नही पहुंच पाती।

अब देखने वाली बात ये होगी कि क्या विभागीय अधिकारी कुम्भकरणी नींद से जागते है या फिर यूं ही अवैध खनन का ये खेल चलता रहेगा। मौके पर पहुंचे भगवानपुर तहसीलदार सुशील सैनी ने बताया कि राजाजी नेशनल पार्क से तथा ग्रामीणों कि जमीन से यदि अवैध खनन हुआ है तो उसके लिए रिपोर्ट बनाई जाएगी तथा आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।

Leave a Reply

ये भी पढ़ें