हरिद्वार | जिला अस्पताल में शुरू हुई आर्थोपैडिक इम्प्लांट आपूर्ति

आयुष्मान कार्ड धारकों का होगा अब निःशुल्क ऑपरेशन। जिला अस्पताल में शुरू हुई आर्थोपैडिक इम्प्लांट आपूर्ति।

हरिद्वार | जिला अस्पताल में शुरू हुई आर्थोपैडिक इम्प्लांट आपूर्ति
  • जिला अस्पताल से अब आर्थोपैडिक ऑपरेशन के मरीज नहीं होगे रैफर
  • आयुष्मान कार्ड धारकों का होगा अब निःशुल्क ऑपरेशन
  • जिला अस्पताल में शुरू हुई आर्थोपैडिक इम्प्लांट आपूर्ति

हरिद्वार । जिला अस्पताल से आर्थोपैडिक इम्प्लांट न होने की वजह से सड़क दुर्घटना या फिर अन्य रूप से घायल मरीजों को अब रफेर नहीं होेना पड़ेगा। आयुष्मान धारक मरीजों को अब तक ऑपरेशन के लिए उनको अन्य हॉस्पिटल की ओर दौड़ लगानी पड़ती थी। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा, जिला अस्पताल में आर्थोपैडिक इम्प्लांट की आपूर्ति शुरू हो गयी है। इसलिए आयुष्मान कार्ड धारक मरीजों का आर्थोपैडिक ऑपरेशन निःशुल्क हो सकेगा।

अब तक मरीजों को आर्थोपैडिक ऑपरेशन के लिए हॉयर सेंटर किया जाता था। जिला अस्पताल में आर्थोपैडिक इम्प्लांट की आपूर्ति हो जाने से निश्चित गरीब व मध्य वर्गीय लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। बताते चलेे कि अभी तक जिला अस्पताल से आर्थोपैडिक ऑपरेशन के लिए मरीजों कोे हॉयर सेंटर रेफर किया जाता रहा है। जिसको लेेकर आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता था। आर्थोपैडिक इम्प्लांट न होेने को लेकर हमेशा जिला अस्पताल के चिकित्साधिकारी राजनैतिक नेताओं व समाजिक संगठनों समेत अन्य लोगों के निशाने पर रहते थे। जिसको लेकर अक्सर मीडिया में बयान जारी कर जिला अस्पताल को रफेर सेंटर बताकर उसको कटघरे में खड़ा करते रहे है। लेकिन अब उनकी सोच में भी परिवर्तन आयेगा।

जिला अस्पताल में आर्थोपैडिक इम्प्लांट की आपूर्ति होने पर राजनैतिक नेताओं व समाजिक संगठनों समेेत आम जनता ने राहत महसूस की है। जिला अस्पताल चिकित्साधिकारी डॉ. चंदन मिश्रा ने बताया कि अब तक जिला अस्पताल में आर्थोपैडिक इम्प्लांट की आपूर्ति नहीं होती थी। जिसकारण आर्थोपैडिक ऑपरेशन के लिए मरीजों को हॉयर सेंटर रफेर करना पड़ता था, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।

जिला अस्पताल का गुजरात राजकोट की पीवीके मेडिकेयर कम्पनी से आर्थोपैडिक इम्प्लांट को लेकर अनुबंध् हो चुका है। जोकि मरीजों के ऑपरेशन के मुताबिक हड्डी विशेषज्ञ चिकित्सक के आर्डर पर उनको आर्थोपैडिक इम्प्लांट आपूर्ति करेगी। जिनकी ब्रांच मेरठ और रूड़की में है। अनुबंध में कम्पनी की ब्रांच उनको आर्थोपैडिक इम्प्लांट को आर्डर के 24 घंटे भीतर उपलब्ध करायेगी।

जिला अस्पताल में अब आयुष्मान कार्ड धारकों का आर्थोपैडिक ऑपरेशन निःशुल्क किया जाएगा। जिला अस्पताल में आर्थोपैडिक एम्प्लांट आपूर्ति होने पर राजनैतिक व व्यापारी नेता क्या कहते हैं जानेः

जिला व्यापार मण्डल के महामंत्री संजीव नैय्यर ने कहा कि जिला अस्पताल में आर्थोपैडिक इम्प्लांट की आपूर्ति होने से आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को बहुत बड़ी राहत है। जिसके के लिए जिला अस्पताल पीएमएस डॉ. सीपी त्रिपाठी व चिकित्साधिकारी डॉ. चंदन मिश्रा इसके लिए बधाई के पात्र है। हरिद्वार विश्वविख्यात तीर्थनगरी हैं, यहां पर देश-विदेश से वर्षभर में करोड़ों श्रद्धालु व पर्यटकों का आगमन रहता है। इसलिए जिला अस्पताल में एक मल्टी फैसिलिटी एमरजेंसी की सुविधा भी होनी चाहिए और साथ ही न्यूरो सर्जन समेत अन्य चिकित्सकों की भी तैनाती होेनी चाहिए। जिससे सभी को लाभ मिल सकेें।

जिला कांग्रेस कार्यकारी जिलाध्यक्ष राजीव चैधरी ने कहा कि जिला अस्पताल में आर्थोपैडिक इम्प्लांट की आपूर्ति होेने से गरीब व आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को निजी हॉस्पिटल की मनमानी का सामना नहीं करना पडेगा। जिला अस्पताल के पीएमएस डॉ. त्रिपाठी व चिकित्साधिकारी डॉ. मिश्रा ने आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को बहुत बड़ी राहत देने का काम किया है, दोनों की बधाई केे पात्र है।

भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य व समाजसेवी डॉ. विशाल गर्ग ने कहा कि जिला अस्पताल में आर्थोपैडिक इम्प्लांट न होने की वजह से गरीब व आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को आर्थोपेडिक ऑपरेशन के लिए हॉयर सेंटर रेफर होना पड़ता था। लेकिन अब जिला अस्पताल में आर्थोपैडिक इम्प्लांट आपूर्ति होने से आयुष्मान कार्ड धारकों को निश्चित संजीवनी मिलने का काम होगा। इसलिए के लिए मौजूदा पीएमएस व सीएमएस बधाई के हकदार है।